International

डोकलाम पर आमने-सामने भारत-चीन लेकिन चिंता में पाकिस्तान

नफीस-जकारिया

इस्लामाबाद। डोकलाम गतिरोध को लेकर पड़ोसी देश पाकिस्तान, जिसका इस विवाद से दूर-दूर कोई वास्ता नहीं है, बिना बात के दखलंदाजी कर रहा है। वह फरमा रहा है कि सभी देशों की जिम्मेदारी है कि वे क्षेत्रीय शांति बनाए रखें। पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कहा, ‘पाकिस्तान ने सिक्किम सीमा में भारत की ओर से उल्लंघन पर ध्यान दिया है। इसको लेकर क्षेत्र में भारत की कब्जे की बढ़ती कोशिशों पर पाकिस्तान चिंतित है।’ जकारिया ने कहा कि भारत का यह बर्ताव क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता को खतरे में झोंक रहा है।





जकारिया ने आगे कहा कि क्षेत्रीय शांति बनाए रखना सभी देशों की जिम्मेदारी है। पाकिस्तान हमेशा से ही क्षेत्र की शांति और समृद्धि चाहता है। जकारिया के मुताबिक ऐसा देखा गया है कि भारत में सत्ता परिवर्त्तन के बाद से भारत और पाकिस्तान के संबंधों में गिरावट आई है। उनके मुताबिक भारत को यह जानने की जरूरत है कि सहयोग के जरिए क्षेत्रों के लोगों की बेहतरी हो सकती है। हमें सभी विवाद से जुड़े मामलों, विशेष तौर पर जम्मू-कश्मीर के मसले को हल करने की आवश्यकता है। जकारिया के मुताबिक भारत इस संबंध में सकारात्मक नहीं रहा।

उन्होंने भारत पर यह भी आरोप मढ़ा कि सार्क के प्रति अपने देखरेख से भारत इस क्षेत्र के आर्थिक विकास को भी बाधित कर रहा है। जकारिया ने कहा कि सार्क का मकसद सिर्फ इस क्षेत्र के लोगों का आर्थिक विकास करना है। पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने दावा किया कि सार्क सम्मेलन का आयोजन पाकिस्तान में ठीक समय पर होगा।

Comments

Most Popular

To Top