International

चीन ने डोकलाम पर गृहमंत्री की उम्मीद को धता बताया

भारत-चीन सीमा

बीजिंग। गृह मंत्री राजनाथ सिंह की उम्मीद को खारिज करते हुए चीन ने कहा कि भारत को बिना शर्त अपने सैनिकों को हटाना होगा। उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने यह उम्मीद जाहिर कि थी कि चीन इस मामले को हल करने के लिए कुछ ‘सकारात्मक कदम’ उठाएगा।





राजनाथ सिंह ने कहा था कि डोकलाम विवाद का जल्दी ही कोई हल निकलेगा और भारत ने कभी भी किसी देश पर न तो कोई हमला किया है और न ही उसका कोई विस्तारवादी स्वभाव है। गृह मंत्री ने उम्मीद जताई कि थी इस गतिरोध को दूर करने के लिए चीन कुछ सकारात्मक कदम उठाएगा।

लेकिन मंगलवार को चीन ने भारतीय गृह मंत्री की इस उम्मीद को धता बताते हुए फिर से दुष्प्रचार का सहारा लिया है। चीन ने आरोप लगाया है कि भारतीय सेना ने ‘अवैध तरीके से सीमा पार किया है।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ छुनयिंग ने कहा, ‘भारत ने डोकलाम में चीनी सड़क निर्माण गतिविधियों को रोकने के लिए हास्यास्पद तर्क दिए हैं। इसलिए इस समस्या को दूर करने के लिए बस एक पूर्व शर्त है कि भारत अपने सैनिक और साजो-सामान बिना शर्त हटाए।’

उल्लेखनीय है कि डोकलाम में भारत और चीनी सेना दो महीने से भी ज्यादा समय से आमने-सामने है। यह गतिरोध तब शुरू हुआ जब इस इलाके में चीनी सेना द्वारा किए जाने वाले सड़क निर्माण कार्य को भारतीय सैनिकों ने रोक दिया। भारत की चिंता यह है कि अगर चीन डोकलाम में सड़क बनाने में कामयाब रहता है तो उसके लिए कभी भी उत्तर-पूर्व के हिस्से तक शेष भारत की पहुंच को रोक देना आसान हो जाएगा। डोकलाम इलाके को भूटान अपना मानता है, लेकिन चीन का मानना है कि यह उसके क्षेत्र में आता है।

Comments

Most Popular

To Top