Forces

01 अक्टूबर 2019 से प्रभावी बढ़ी हुई परिवार पेंशन के लिए न्यूनतम अर्हता सेवा की अनिवार्यता हुई खत्म

पैरामिलिट्री
फाइल फोटो

नई दिल्ली। मौजूदा प्रावधान के मुताबिक रक्षा बलों के कर्मियों के निकट सम्बन्धियों को बढ़ी हुई दर पर साधारण पारिवारिक पेंशन देने के लिए 07 साल की निरंतर सेवा की अनिवार्यता समाप्त कर दी है।





बढ़ी हुई दर पर पारिवारिक पेंशन की गणना अंतिम परिलब्धियों के 50 फीसदी पर की जाती है जबकि साधारण परिवार की पेंशन की गणना अंतिम वेतन के 30 फीसदी पर की जाती है। सेवा में कर्मियों की मृत्यु की तारीख के बाद किसी भी ऊपरी आयु सीमा के बिना 10 साल के लिए बढ़ी हुई दर पर साधारण पारिवारिक पेंशन देय है। रक्षा कर्मियों की सेवा समाप्ति / सेवानिवृत्ति / निर्वहन / अमान्य होने के समय पेंशन की उपलब्धता रहेगी तो बढ़ी हुई दर पर साधारण पारिवारिक पेंशन, मृत्यु की तारीख से 07 वर्ष की अवधि के लिए या 67 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक प्रदान की जाती है, जो भी पहले हो।

दिनांक 05 अक्टूबर को जारी परिपत्र में 07 वर्षों की निरंतर योग्यता सेवा की अनिवार्यता को ख़त्म कर दिया गया है।

अलावा इसके  रक्षा बल के वो कर्मी जिनकी मृत्यु 7 साल की निरंतर सेवा पूरी किए बिना पहली अक्टूबर, 2019  से पहले दस साल के भीतर हुई है, उनका परिवार भी बढ़ी हुई दर पहली अक्टूबर, 2019  से बढ़ी हुई पारिवारिक पेंशन के लिए पात्र होगा।

Comments

Most Popular

To Top