Army

आतंकियों में ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ की दहशत, सेना को मिल रही कामयाबी   

जम्मु-कश्मीर। जम्मु-कश्मीर में भारतीय सेना के ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ से आतंकियों के मुखिया खौफ खा रहे हैं और उन्होंने अपने आतंकी साथियों को घाटी में अंडरग्राउंड रहकर वारदातों को अंजाम देने के निर्देश दिए हैं। एक एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक खुलासा हुआ है कि घाटी  में सुरक्षा बलों द्वारा कई खूंखार  आतंकियों को मौत के घाट उतारे जाने के बाद घाटी में कुछ आतंकियों को छिप कर रहने और नई रणनीति बनाने को कहा गया है।





‘ऑपरेशन ऑल आउट’ के डर से आतंकी हो रहे हैं अंडरग्राउंड  

यकीनन आतंकी इस रणनीति को फॉलो भी कर रहे हैं लेकिन इसका उन्हें कोई फायदा नहीं मिल रहा। क्योंकि चाक-चौबंद भारतीय सेना आतंकियों का लगातार सफाया कर रही है। सेना ने मंगलवार को कुपवाड़ा जिले में चार आतंकी ढेर किए गए जिनमें तीन लश्कर-ए-तैयबा के हैं।

सोमवार को आधी रात के बाद आतंकियों के घाटी में छिपे होने की सूचना पर सुरक्षा बलों ने कुपवाड़ा के हंदवाड़ा क्षेत्र के एक इलाके को घेर लिया। चारों ओर से घेरे जाने पर आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी लेकिन जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के तीनों आतंकी मारे गए। ये तीनों ही लश्कर-ए-तैयबा संगठन के हैं।

घाटी में अब तक मारे गए हैं 190 आतंकी  

सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मंगलवार को दूसरी मुठभेड़ कुपवाड़ा जिले के ही गुज्जर पट्टी इलाके में हुई जिमें एक आतंकी मारा गया। मुठभेड़ में पैरा स्पेशल फोर्स का एक जवान शहीद हुआ है जबकि सेना के 3 अन्य जवान घायल हैं। ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ के तहत इस साल घाटी में अब तक 190 आतंकी मारे जा चुके हैं।

Comments

Most Popular

To Top