Air Force

सुखोई-30 की बढ़ेगी फायर पावर, प्रोजेक्ट को मंजूरी

नई दिल्ली। चीन और पाकिस्तान के हालात को सामने रखते हुए भारत ने अपने सुखोई-30 एमकेआई की फायर पावर बढ़ाने का फैसला किया है। केंद्र सरकार ने हाल में इसके लिए 3,000 करोड़ रुपये के एक प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है। इस विमान में नए रिकोनेसां पॉड लगाए जाएंगे, जो पहाड़ों और बंकरों में छिपे आतंकवादियों और दुश्मनों का पता लगाने में मदद करेंगे।





ये रिकोनेसां पॉड उन बंकरों का पता भी लगाएगा, जो दुश्मन जमीन की सतह के नीचे छिपाकर बनाता है। साथ ही ऐसी जमीनी सतह का विश्लेषण कर सकता है, जहां दुश्मन या आतंकियों के महत्वपूर्ण ठिकाने हों। ऐसे पॉड करगिल युद्ध के समय उपलब्ध नहीं थे। यदि ये होते तो हमारी वायुसेना पहाड़ियों पर बनाए बंकरों और चट्टानों के पीछे और गुफाओं में छिपी पाकिस्तानी सेना का आसानी से पता लगा सकती थी।

सुखोई-30 एमकेआई को एयर डोमिनेंस फाइटर विमान माना जाता है, क्योंकि यह कई तरह के मिशन पूरे कर सकता है। इसकी व्यापक रेंज, स्पीड, फायर पावर और सुपर-मैन्यूवरेबिलिटी के कारण भारतीय वायुसेना की ताकत, खासतौर से आक्रामकता काफी बढ़ गई है।

Comments

Most Popular

To Top