Air Force

Special Report: देश में बनी  अस्त्र मिसाइल अब सुखोई-30 पर तैनात होगी

सुखोई 30

नई दिल्ली। भारत में विकसित की जा रही हवा से हवा में मार करने वाली अस्त्र मिसाइल का सुखोई-30  विमान पर 26 सितम्बर को सफल परीक्षण किया गया। यहां रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में यह एलान किया।





बीवीआर यानी दृष्टि से पार मार करने वाली मिसाइल का भारत में पिछले दो दशक से विकास किया जा रहा है। अब भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के मिसाइल वैज्ञानिकों को भरोसा है कि सुखोई -30 लडाकू विमान पर तैनात कर इसे जिस कामयाबी से दुश्मन के लक्ष्य को मार गिराया गया इससे यह भरोसा बना है कि जल्द ही अस्त्र मिसाइल को सुखोई-30  पर तैनात किया जा सकेगा। रक्षा सूत्रों के मुताबिक यह मिसाइल 80  किलोमीटर से भी अधिक दूर तक दुश्मन के विमान को मार गिराने में सक्षम होगी।

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि यह परीक्षण सुखोई-30  पर तैनात किये जाने के पहले का परीक्षण था। इस मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने डीआऱडीओ , भारतीय वायुसेना औऱ इससे सम्बदध टीम सदस्यों को बधाई दी और उनके काम की सराहना की। रक्षामंत्री ने कहा कि शस्त्र प्रणालियों के घेरेलू विकासऔर उत्पादन में भारत ने उच्च स्तर की क्षमता हासिल कर ली है।

Comments

Most Popular

To Top