Forces

स्पेशल रिपोर्ट: एयर डिफेंस कोर को राष्ट्रपति का ध्वज

राष्ट्रपति कोविंद

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने थलसेना की हवाई रक्षा शाखा कोर ऑफ आर्मी एयर डिफेंस को एक स्वतंत्र शाखा के तौर पर 25 साल पूरे होने पर राष्ट्रपति का ध्वज प्रदान किया।





गोपालपुर मिलिट्री स्टेशन में 28 सितम्बर को आयोजित एक समारोह में राष्ट्रपति की ओर से प्रदान किये गए ध्वज को कोर ऑफ आर्मी एयर डिफेंस की ओर से आर्मी एयर डिफेंस सेंटर ने ग्रहण किया। देश की सुरक्षा में अमूल्य योगदान के  लिये सेना की किसी रेजीमेंट को राष्ट्रपति ध्वज  जैसा सर्वोच्च सम्मान दिया जाता है। दूसरे विश्व युद्ध में थलसेना की एयर डिफेंस कोर ने  बर्मा अभियान, इम्फाल की घेराबंदी और रंगून पर फिर कब्जा करने में अहम भूमिका निभाई थी। इसके सैनिक सिंगापुर, हांगकांग, मलेशिया, बहरीन, इराक आदि इलाकों में भी तैनात हुए थे जिन्हें वीरता के कई सर्वोच्च सम्मान मिले। इस कोर के सैनिकों को अब तक दो अशोक चक्र, दो कीर्ति चक्र, 20 वीर चक्र, 09 शौर्य चक्र, 113 सेना मेडल मिल चुके हैं। वर्ष 1971 के भारत पाक युद्ध में इसके जवानों की भी उल्लेखनीय भूमिका रही।

गोपालपुर में कोर के सैनिकों द्वारा पेश की गई आकर्षक मिलिट्री परेड के दौरान राष्ट्रपति को आकर्षक राष्ट्रीय सलामी पेश की गई। इस दौरान राष्ट्रपति ने  भारतीय सशस्त्र सेनाओं के गौरवशाली इतिहास को स्मरण किया। इस मौके पर ओडिशा के राज्यपाल  गणेशी लाल औऱ राज्य सरकार की  अन्य गणमान्य हस्तियां मौजूद थीं।

Comments

Most Popular

To Top