Forces

स्पेशल रिपोर्ट: भारत और ब्रिटेन के बीच होगा आतंक विरोधी अभ्यास

ब्रिटिश आर्मी (फाइल फोटो )
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत औऱ ब्रिटेन के बीच 5वां थलसैनिक अभ्यास ब्रिटेन के सेलिसबरी प्लेंस में 13 से 26 फरवरी तक आयोजित होगा। अजेय वारियर- 2020 नाम से आयोजित इस साझा अभ्यास में दोनों देशों की थलसेनाओं के 120 सैनिक भाग लेंगे। गौरतलब है कि भारत औऱ ब्रिटेन की नौसेनाओं के बीच पिछले दो दशकों से कोंकण संयुक्त नौसैनिक अभ्यास हर साल होता है।





इस अभ्यास के दौरान दोनों थलसेनाएं प्रति विद्रोही औऱ प्रति आतंकवादी अनुभव एक दूसरे से बांटेंगी। कम्पनी स्तर के इस साझा अभ्यास का उद्देश्य शहरी औऱ अर्दधशहरी इलाकों में प्रति आतंकवादी कार्रवाई का संचालन करना है। इस दौरान आधुनिक शस्त्र प्रणालियों, उपकरणों औऱ सीमूलेटरों पर ट्रेनिंग का भी आयोजन होगा। यह अभ्यास हर साल भारत और ब्रिटेन में आयोजित होगा।

तेजी से फैलते वैश्विक आतंकवाद की पृष्ठभूमि में दोनों देशों द्वारा सामना की जा रही सुरक्षा चुनौतियों के मद्देनजर अजेय वारियर एक अहम साझा अभ्यास होगा। इस दौरान दोनों देशों के सैनिक अपनी सैन्य प्रक्रियाएं एक दूसरे को बताएंगे। अजेय वारियर अभ्यास के जरिये दोनों देशों के बीच सुरक्षा सहयोग को बढ़ावा मिलेगा औऱ दोनों देशों को एक दूसरे के अनुभव बांटने का मौका मिलेगा।

गौरतलब है कि भारत औऱ ब्रिटेन के बीच गहरा सैन्य औऱ रक्षा सम्बन्ध रहा है। ब्रिटेन से साल 1947 के बाद आजादी मिलने के बाद भी दोनों सेनाओं ने आपसी रक्षा औऱ सैन्य सहयोग का सिलसिला जारी रखा । इस दौरान ब्रिटेन ने भारत को कई आधुनिक शस्त्र प्रणालियों की सप्लाई की और भारतीय सेनाओं को ताकतवर बनाने में योगदान दिया।

Comments

Most Popular

To Top