Forces

Special Report: पेशनरों को रक्षा मंत्री का भरोसा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ में देश के रक्षा महकमे से काम कर रिटायर हुए पेंशनरों की 172वीं अदालत  का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने पेंशनरों को भरोसा दिलाया कि उनकी पेंशन को वक्त पर मंजूरी दी जाएगी।





दो दिनों तक चलने वाले इस पेंशन अदालत में रक्षा सेवाओं से रिटायर करने वाले कर्मियों की पेशंन सम्बन्धी शिकायतों को दूर करने से जुड़े मसलों  को सुना जाता है। पहली बार देश के रक्षा मंत्री ने इस तरह की पेंशन अदालत में भाग लिया है। यह पेंशन अदातल थलसेना की मध्य कमांड के सहयोग से आयोजित की गई  है।

समारोह को सम्बोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने डिफिंस एकाउंट्स कंट्रोलर जनरल के कार्यालय द्वारा किये गए अच्छे कायों की  सराहना की है। यह समारोह प्रिंसिपल कंट्रोलर आफ डिफेंस एकाउंट्स द्वारा आय़ोजित किया गया है। रक्षा मंत्री ने कहा कि पेंशन का वितरण एक जटिल प्रक्रिया है जिसमें कई एजेंसियों को शामिल होना पड़ता है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकरा ने सैन्य कर्मियों की वन रैंक वन पेंशन की लम्बे वक्त से चली आ रही मांग को पूरा किया है।  देश की सुरक्षा में सैन्य कर्मियों की भूमिका की सराहना करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि  वे भविष्य की पीढ़ियों के लिये प्रेरणा के स्रोत बनते हैं।

इस मौके पर थलसेना की मध्य कमांड के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ  लेफ्टिनेंट जनरल आई एस घुमन न कहा कि देश भर में 31 लाख पेंशनरों में से चार लाख उत्तर  पदेश के हैं । इस इलाके के लोगों केलिये पिछले सात सालों से लखनऊ में पेंशन अदातल आयोजित होती रही है।

Comments

Most Popular

To Top