Forces

स्पेशल रिपोर्ट: कैंटोनमेंट बोर्ड कोरोना से निपटने के लिये तैयार

दिल्ली कैंट और जालंधर कैंट
फाइल फोटो

नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय के विभिन्न प्रतिष्ठानों द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिये तैयार होने के साथ साथ अब देश भर के 62 कैंटोनमेंट बोर्डों ने कोरोना वायरस से निबटने की तैयारी पूरी कर ली है। ये बोर्ड देश के 19 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में फैले हैं जहां की आबादी 21 लाख से अधिक है।





यहां रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक सभी कैंटोनमेंट बोर्डों को निर्देश भेज दिये गए हैं कि अपने इलाके में अस्पतालों, स्वास्थय केन्द्रों और गेस्ट हाउसों में कमरे तैयार रखें । अघिकारी ने बताया कि कैंटोनमेंट बोर्डों के अध्यक्षों औऱ प्रमुख कार्यकारी अधिकारियों को निर्देश दिये गए हैं कि वे कोराना से निबटने की तैयारी के लिय आपस में और क्षेत्र के नागरिक अधिकारियों के सम्पर्क मे रहें। उन्हें कहा गया है कि वक्त पड़ने पर मदद के लिये तैयार रहें। कैंटोनमेंट बोर्डों से कहा गया है कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी सभी निर्देशों का पालन करें।

बोर्डों से कहा गया है कि अपने सभी कार्यालयों , भवनों, स्कूलों , पुस्तकालयों , पार्कों, निवासीय इलाकों , बाजार के इलाकों आदि की नियमित तौर पर कीटाणु नाशक छिडकाव करते रहें। अपने इलाके के निवासियों को कोरोना वायरस से बचने के उपायों को लेकर चौकस करते रहें। बोर्ड के अस्पतालों के मेडिकल आफीसर इलाके के लोगों के लिये वर्कशापों के जरिये लोगों को चेता रहे हैं। कैंट बोर्ड अपने इलाके के लोगों को मुफ्त में मास्क, दास्ताने , सैनीटाइजर बोतलें आदि भी मुहैया कराने का निर्देश दिया गया है। बोर्ड के इलाके में आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिये टास्क फोर्स भी स्थापित किए गए हैं। किराने की सभी दूकानों को कालाबाजारी को लेकर आगाह किया जा रहा है। कैंट के निवासियों के लिये हेल्पलाइन नम्बर भी मुहैया कराए गए हें।

गौरतलब है कि कैंटोनमेंट इलाके में सैनिक और नागरिक आबादी साथ रहती है जिसका नगरपालिका प्रशासन कैंटोनमेंट बोर्डों के जरिये प्रशासित होता है। कैंटोनमेंट बोर्ड के सदस्य जनतांत्रिक तरीके से चुने जाते हैं।

Comments

Most Popular

To Top