Forces

Special Report: अमेरिका से राइफलें आयात करने को मिली मंजूरी

AK-47 असॉल्ट राइफल
फाइल फोटो

नई दिल्ली। चीन के साथ चल रही मौजूदा सैन्य तनातनी के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिका से 780 करोड़ रुपये की लागत से 73 हजार सिग सोर असॉल्ट राइफलें आयात करने की मंजूरी दी है। अमेरिकी फर्म को एक साल के भीतर इन राइफलों की सप्लाई करनी होगी।





गौरतलब है कि अमेरिका से ऐसी 72 हजार एसाल्ट राइफलों का आयात पहले भी किया जा चुका है। भारतीय सेना के लिये पहले ही रूसी ए के- 203 राइफलों की सप्लाई हो रही है। रक्षा मंत्रालय की ऱक्षा खरीद परिषद ( DAC) की मंजूरी मिलने के बाद जल्द ही अमेरिकी कम्पनी के साथ सौदा सम्पन्न हो जाएगा। इसकी तैयारी पहले ही की जा चुकी है। सिग सोर एसाल्ट राइफलें स्वदेशी इनसास राइफलों का स्थान लेंगी।

योजना के मुताबिक प्रतिविद्रोही ड्यूटी और अग्रिम मोर्चों पर तैनात सैनिकों को करीब डेढ लाख आयातित राइफलें देने का प्रस्ताव मंजूर हो चुका है। आतंकवादियों के पास ऐसे ही क्षमतावान राइफलों के होने के मद्देनजर सरकार ने भारतीय जवानों को भी ऐसी ही एसाल्ट राइफलें देने का फैसला किया गया था।

रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में सोमवार को हुई रक्षा खरीद परिषद की बैठक में कुल 2290 करोड रुपये के रक्षा साज सामान हासिल करने को मंजूरी दी गई है। इनमें घरेलू और विदेशी उद्योग को दिये जाने वाले आर्डर भी शामिल हैं। इसमें 970 करोड रुपये की लागत से स्मार्ट एंटी एयर फील्ड वेपंस शामिल है जिससे वायुसेना और नौसेना की रक्षात्मक क्षमता में इजाफा होगा। इसके अलावा सेनाओं को हाई फ्रीक्वेंसी रिसीवर सेट भी हासिल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।

Comments

Most Popular

To Top