Air Force

जज्बे को सलामः आतंकी गोलाबारी करते हुए निकले पर सार्जेंट शशिधर ने उन्हें कर दिया ढेर

सार्जेंट शशिधर

नई दिल्ली। बात बीते वर्ष की है। दस अक्टूबर को शाम चार बजे सुरक्षा बलों को खबर मिली कि जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा जिले के Rakh Hajin गांव के बून मोहल्ले में एक घर में कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। आतंकियों को दबोचने के लिए वायुसेना की गरुड़ टीम और आर्मी की इकाई ने संयुक्त अभियान चलाया।





गरुड़ टीम को जिम्मेदारी दी गई कि वह टारगेट घर के इर्द-गिर्द ऐसा घेरा बनाए ताकि आतंकी भागने न पाएं। सार्जेंट शशिधर पी.प्रसाद उस समय गरुड़ टीम में तैनात थे। सार्जेंट शशिधर ने वक्त औऱ जरूरत के हिसाब से आतंकवादियों के भागने के रास्ते को रोकने के लिए शानदार घेरा बनाया। आतंकवादियों के बच निकलने का कोई रास्ता नहीं छोड़ा गया।

अगले दिन 11 अक्टूबर को शाम चार बजकर 40 मिनट पर 6-7 आतंकी Barrel Grenade Launcher से फायरिंग करते हुए तथा हथगोले फेंकते हुए तेजी से घर से निकले ताकि घेरे को तोड़कर भाग सकें। आतंकी अंधाधुंध गोली भी चला रहे थे। आतंकियों के भागने की मंशा भांपते हुए सार्जेंट शशिधर ने असाधरण साहस और टीम वर्क का परिचय दिया। उन्होंने हथियार चलाने के अपने हुनर का प्रदर्शन करते हुए आतंकियों पर सटीक निशाना लगाते हुए ए श्रेणी के दो आतंकियों को मौके पर ही ढेर कर दिया। उन्होंने अपनी व्यक्तिगत सुरक्षा की परवाह नहीं की और टीम वर्क को प्राथमिकता दी।

प्रतिकुल परिस्थितियों में उनके अदम्य साहस को देखते हुए वायु सेना मेडल (Gallantry) से सम्मानित किया गया है।

 

 

Comments

Most Popular

To Top