Forces

आपदाओं से निपटने के लिए NDRF की 4 और बटालियन जल्द

एनडीआरएफ-टीम

गाजियाबाद। भूकंप और बाढ़ जैसी आपदाओं के बाद राहत और बचाव कार्य के लिए दिल्ली और आसपास समेत उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) की चार और बटालियन का निर्माण किया जाएगा। इन बटालियन में तैनात होने वाले जवानों को गाजियाबाद स्थित आठवीं बटालियन में ट्रेनिंग दी जाएगी।





अर्ध सैनिक बलों से जवानों का सेलेक्शन कर ट्रेनिंग देने का कार्य आरंभ किया जाएगा। फिलहाल किसी भी तरह की आपदा आने पर राहत कार्य में वक्त रहते मौके पर पहुंचने में काफी समय लगता है। चार अन्य बटालियन के निर्माण से भूकंप, बाढ़ और गैस त्रासदी जैसे आपदाओं के आने पर जवानों को जल्द मौके पर राहत कार्य के लिए भेजा जा सकेगा। अभी देश में महज 12 बटालियन है। गाजियाबाद स्थित एनडीआरएफ के कमांडेंट ने कहा कि चार और बटालियन बनाने की दिशा में काम चल रहा है। बटालियन में बीएसएफ, एसएसबी, सीआईएसएफ, और सीआरपीएफ के जवानों को लिया जाता है। गाजियाबाद के बाद दिल्ली-एनसीआर में अब दूसरी बटालियन बनाने की योजना है।

उन्होंने कहा कि सभी अर्ध सैनिक बलों से उन जवानों को चुना जाएगा, जिन्होंने विज्ञान की पढ़ाई की हो। इन जवानों को फर्स्ट एड के लिए केमिकल,बायोलॉजिकल और न्यूक्लियर अटैक में लोगों को बचाने की ट्रेनिंग दी जाएगी। इन जवानों को पूरी तरीके से ट्रेंड करने में 2 साल लगते हैं। फिर जवानों का सेलेक्शन कर उन्हें प्रशिक्षिण देने का कार्य शुरू किया जाता है। हर एक बटालियन में तकरीबन 1,000 जवान होंगे।

फिलहाल उत्तराखंड में आपदाओं से निपटने के लिए बटालियन नहीं है जिसे देखते हुए गाजियाबाद की दो टीमें तैनात की गईं है। वहीं दिल्ली और आस-पास का इलाका भूकंप के मद्देनजर काफी सेंसेटिव है यहां 6 रिक्टर स्केल पर आने वाले भूकंप से तबाही मच सकती है। ऐसे में एनडीआरएफ की टीमें किसी भी विपरीत स्थिति से निपटने में सक्षम होती है।

Comments

Most Popular

To Top