Forces

स्वदेशी सोनार से बढ़ेगी नौसेना की निगरानी क्षमता 

स्वदेशी सोनार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की “मेक इन इंडिया” नीति के तहत नौसेना ने बुधवार को टाटा पावर स्ट्रैजिक इंजीनियरिंग डिविजन के साथ खरीदो और निर्माण (भारतीय) श्रेणी के तहत Portable Diver Detection Sonar (PDDS) के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये है। रक्षा क्षेत्र में स्वदेशीकरण के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए नौसेना द्वारा यह दूसरा समझौता है। इससे पहले नौसेना ने युद्धपोत में निगरानी रडार के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये थे।





Portable Diver Detection Sonar का निर्माण टाटा पावर एसईडी द्वारा बैंगलोर में डीएसआईटी इजराइल से प्रौद्योगिकी हस्तांतरण द्वारा किया जायेगा। नौसेना ने केंद्र सरकार के “मेक इन इंडिया” कार्यक्रम के तहत स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए खरीदो और निर्माण (भारतीय)श्रेणी के तहत हथियारों और सेंसर को शामिल करने का कार्यक्रम बनाया है। Portable Diver Detection Sonar के नौसेना में शामिल होने से समुद्री अभियान के दौरान निगरानी क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी। इन सोनार की खरीद से नौसेना को युद्धपोतों को खतरों से बचाने में भी सफलता मिलेगी।

Comments

Most Popular

To Top