Navy

स्पेशल रिपोर्ट: भारत के साथ साझा अभ्यास के तहत रूसी युद्धपोत पहुंचे गोवा

रूसी योद्धपोत यारोस्लाव मुदरी

नई दिल्ली। भारत के साथ त्रिसैन्य साझा अभ्यास इन्द्र- 2019 के नौसैनिक भाग के तहत साझा अभ्यास के लिये रूसी नौसेना के पोत यारोस्लाव मुदरी, विक्टर कोनेत्स्की और ऐलिना गोवा के नौसैनिक अड्डे पर पहुंच गए हैं।





इन्द्र साझा त्रिसैन्य अभ्यासों के तहत नौसैनिक अभ्यास का दूसरा संस्करण गोवा में दस से 19 दिसम्बर तक चलेगा। इन अभ्यासों का इरादा साझी सुरक्षा चुनौतियों का मिल कर मुकाबला करने के लिये आपसी तालमेल विकसित करना और आपसी समझ बेहतर करना है। गौरतलब है कि भारत और रूस के बीच इन्द्र सैन्य अभ्यासों का सिलसिला 2003 में शुरु हुआ था। इन अभ्यासों का स्वरूप अब त्रिसैन्य कर दिया गया है जिसमें भागीदारी का स्तर निरंतर बढ़ाया गया है और इसकी जटिलताएं भी काफी बढ़ी हैं।

इस साल अभ्यासों का नौसैनिक हिस्सा दो चरणों में होगा। इसके तहत हारबर चरण का अभ्यास गोवा तट पर दस दिसम्बर से शुरु हो चुका है। इसमें योजना सम्मेलन , पेशेवर आदान प्रदान , सांस्कृतिक आदान प्रदान, खेल के आयोजन और दोनों नौसेनाओं के आला अफसरों के एक दूसरे के यहां दौरे शामिल हैं।

अभ्यास का समुद्री चरण अरब सागर में 16 से 19 दिसम्बर तक चलेगा। समुद्री चरण के तहत बीच सागर में एक दूसरे के पोतों को सप्लाई, हवाई सुरक्षा अभ्यास, सतह पर फायरिंग, पोतों पर निरीक्षण , जांच और जब्त करने ( वी बी एस एस) और अन्य रणनीतिक प्रक्रियाएं शामिल हैं।

अभ्यास में भारतीय नौसेना की ओर से फ्लीट सपोर्ट शिप आईएनएस आदित्य और गाइडेड मिसाइल फ्रिगेट आईएनएस तरकश भाग लेंगे। इनके अलावा टोही विमान डार्नियर, पी-8-आई और मिग-29 के लड़ाकू विमान और अन्य पोत आधारित हेलीकाप्टर भाग लेंगे।

18 दिसम्बर को सैनिक अभ्यास के समापन के दौरान भारतीय थलसेना घटक प्लाटून तैनात करेगी। इस दौरान भारतीय वायुसेना सुखोई-30 एमके आई लड़ाकू विमान, जगुआऱ बमवर्षक विमान, एमआई-17 हेलीकाप्टर और अवाक्स टोही विमानों को उतारेगी। इस त्रिसैन्य साझा अभ्यास के जरिये दोनों सेनाएं आपसी भरोसा औऱ तालमेल मजबूत करेंगी। यहां नौसैनिक अभ्यास के एक आला अधिकारी ने बताया कि दोनों देशों के बीच सुरक्षा सहयोग की दिशा में मील का एक और पत्थर साबित होगा। इससे भारत औऱ रूस के बीच दोस्ती के दीर्घकालीन बंधन को और मजबूत करने में मदद मिलेगी।

Comments

Most Popular

To Top