Navy

स्पेशल रिपोर्ट: ब्रिटिश विमानवाहक पोत पर भारतीय सांसद

एचएमएस प्रिंस ऑफ वेल्स
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। ब्रिटेन में बने अब तक के सबसे बड़े विमानवाहक पोत ‘एचएमएस प्रिंस ऑफ वेल्स’ का छह भारतीय सांसदों ने भ्रमण किया। प्रिंस ऑफ वेल्स 65 हजार टन विस्थान क्षमता का है और इस पर चालीस लड़ाकू विमान तैनात हो सकते हैं।





ये भारतीय सांसद यूके-इंडिया चीवनिंग पार्लियामेंटरी फेलोशिप के तहत इन दिनों ब्रिटेन का दौरा कर रहे हैं। इन सांसदों को विमानवाहक पोत के ब्रिज, फ्लाइट डेक और एयरक्राफ्ट हैंगर का दौरा करवाया गया।

एचएमएस प्रिंस ऑफ वेल्स ब्रिटिश शाही नौसेना के दो विमानवाहक पोतों में है जिसे पिछले साल 10 दिसम्बर को कमीशन किया गया। इसका साथी पोत एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ अगले साल से हिंद महासागर के इलाके में विचरण करने के लिये तैयार होगा।

भारतीय सांसद भारत ब्रिटेन रिश्तों के विभिन्न पहलुओं पर ब्रिटिश अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ चर्चा के लिये ब्रिटेन के एक सप्ताह के दौरे पर हैं। इन सासंदों का हाउस आफ लार्डस में भी स्वागत किया गया।

भारतीय सांसदों के दौरे पर ब्रिटिश नौसेना के कैरियर स्ट्राइक ग्रुप के कमांडर कमोडोर स्टीफन मूरहाउस ने कहा कि भारत और ब्रिटेन की नौसेनाओं के बीच लम्बे अर्से से सहयोग का रिश्ता रहा है। दोनों का समृद्ध समुद्री इतिहास रहा है। ब्रिटेन के करियर प्रोग्राम की श्रेष्ठ प्रक्रियाओं को भारतीय नौसैनिकों के साथ साझा किया जाता रहा है। दोनों के बीच आपसी समझ और आदान-प्रदान बढ़ाने के कई कार्यक्रम चलते हैं।

Comments

Most Popular

To Top