Navy

स्पेशल रिपोर्ट: भारतीय नौसेना में पहली बार महिला युद्धपोत पर तैनात

युद्धपोत पर तैनात होंगी महिला ऑफिसर

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना ने दो महिला अफसरों को एक युद्धपोत पर तैनात करने का फैसला किया है। नौसेना के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा हालांकि वायुसेना में महिला अफसरों को लडाकू विमानों पर पहले ही तैनात किया जा चुका है।





नौसेना के एक अधिकारी के मुताबिक दोनों महिला अफसरों को एक युद्धपोत पर तैनात हेलीकाप्टर पर एयरबार्न टैक्टीशयन (आब्जर्वर ) की भूमिका दी जाएगी। नौसेना के प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय नौसैनिक उड्डयन के इतिहास में भी ऐसा पहली बार होगा। वास्तव में दोनों अफसर महिला योद्धाओं की पहली टीम युद्धपोत पर तैनात की जा रही हैं। इसके पहले महिला अफसरों को विमानों पर ही तैनात किया जाता था। ये विमान तटीय अड्डों से संचालित किये जाते हैं।

भारतीय नैसेना के ऑफिसर

ये महिला अफसर हैं- सब लेफ्टिनेंट कुमुदनी त्यागी औऱ सब लेफ्टिनेंट रिती सिंह। ये महिला अफसर उन 17 अफसरों की टीम में हैं जिन्हें शार्ट सर्विस कमीशन के तहत आब्जर्वर के तौर पर स्नातक होने पर 21 सितम्बर को आईएनएस गरुड कोच्चि में विंग प्रदान किये गए थे। इन 17 अफसरों में चार महिला अफसर थीं। इस समारोह की अध्यक्षता नौसेना के चीफ स्टाफ अफसर रियर एडमिरल एंटोनी जार्ज ने की। इसके अलावा मुख्य अतिथि ने अफसरों को अवार्ड औऱ विंग प्रदान किये । इसके अलावा छह अन्य अफसरों को इंस्ट्क्टर बैज भी प्रदान किये गए। इन अफसरों को क्वालीफायड नेवीगेशन इंस्ट्रक्टर घोषित किया गया।

इस मौके पर रियर एडमिरल जार्ज ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक मौका है जब पहली बार महिला अफसरों को हेलीकाप्टर आपरेशंस में ट्रेनिंग दी जाएगी। इससे महिला अफसरों को अग्रिम इलाकों में तैनात युद्धपोतों पर सेवारत किया जाएगा। ये महिला अफसर नौसेना के 91वें रेगुलर कोर्स और 22 वें एसएससी आब्जर्वर कोर्स की हैं। इन्हें एयर नेवीगेशन में ट्रेनिंग दी गई है। इस हैसियत से हवाई युद्ध की रणनीति और पनडुब्बी नाशक युद्ध में अपनी भूमिका निभाएंगी।

Comments

Most Popular

To Top