Navy

स्पेशल रिपोर्ट: अंडमान सागर में भारतीय नौसेना का सिंगापुर के साथ नौसैनिक अभ्यास

भारतीय नौसेना के साथ अभ्यास सिम्बेक्स-20

नई दिल्ली। भारत और सिंगापुर की नौसेनाओं के बीच साझा नौसैनिक युद्धाभ्यास सोमवार से अंडमान सागर में शुरु हो गया। यह युद्धाभ्यास 25 नवम्बर तक चलेगा।





यहां नौसेना के प्रवक्ता ने बताया कि  सिंगापुर के साथ यह साझा नौसैनिक अभ्यास 27 वां संस्करण होगा। दोनों के बीच साझा नौसैनिक अभ्यास 1994 से सालाना  चल रहा है। इसका उद्देश्य दोनों देशों के बीच आपसी तालमेल और समन्वय बढाना है। पिछले दो दशकों में दोनों नौसेनाओं के बीच इस अभ्यास का स्तर निरंतर उन्नत किया जाता रहा है। इन अभ्सासों में हर किस्म के समुद्री आपरेशन को शामिल  किया जाता है।

सिम्बेक्स-2020 में भारतीय नौसेना के विध्वंसक पोत आईएनएस राणा, स्वदेशी कार्वेट और कार्मुक के अलावा पनडुब्बी सिंधुराज और समुद्र टोही विमान पी-8-आई भाग ले रहे हैं। सिंगापुर की ओर से फार्मिडेबल क्लास के फ्रिगेट इंट्रेपिड और स्टीडफास्ट को उतारा गया है। सिंगापुर की नौसेना में एंड्युरेंस क्लास के लैंडिग शिप टैंक एंडेवर को  अभ्यास में शामिल किया है।

कोविड महामारी की वजह से यह अभ्यास गैरसम्पर्क तरीके से किया जाएगा। इस अभ्यास से दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच परस्पर भरोसा और विश्वास की झलक मिलती है। सिम्बेक्स-20 के जरिये दोनों दोस्त और पडोसी नौसेनाएं उन्नत किस्म के सतही और पनडुब्बी नाशक युद्धाभ्यास करेंगी। इस अभ्यास से दोनों नौसेनाओं और देशों के बीच सामरिक साझेदारी की गहराई का पता चलता है।

Comments

Most Popular

To Top