Forces

मार्कोस-त्रिशूल ने समुद्री लुटेरों की साजिश को किया नाकाम

समुद्री लुटेरे

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना की स्पेशल फोर्सेज यूनिट मरीन कमांडो यानी ‘मार्कोस’ ने समंदर में अपनी ताकत दिखाते हुए समुद्री लुटेरों की हर चाल को नाकाम कर दिया। नेवल ऑफिसर के मुताबिक लुटेरों द्वारा मालवाहक जहाज एमवी जग अमर पर कब्जा करने के मंसूबों पर पानी फेर दिया। पूरी घटना अदन की खाड़ी के क्षेत्र में हुई।





दरअसल, समुद्री लुटेरों ने जग अमर पर धावा बोल दिया था पर तभी इंडियन नेवी का INS त्रिशूल वहां पहुंच गया। इस पूरे ऑपरेशन को मार्कोस ने अंजाम दिया। मालूम हो कि मरीन कमांडो मार्कोस को ऐसे ऑपरेशन में महारथ हासिल है।

नौसेना के अनुसार घटना भारतीय समयानुसार दोपहर 12:30 बजे की है। दोनों भारतीय जहाज और 26 क्रू सदस्य सुरक्षित हैं। एंटी-पाइरेसी अभियान पर तैनात INS त्रिशूल ने जग अमर की मदद को पहुंचने में जरा भी देर नहीं लगाई। यही कारण था कि स्थिति पर जल्द नियंत्रण कर लिया गया। अदन की खाड़ी, रणनीतिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण है। इस क्षेत्र में समुद्री लुटेरों का आतंक कोई नई बात नहीं है, लुटेरे काफी समय से यहां सक्रिय रहे हैं। नौसेना ने समुद्री लुटेरों की नाव से एके- 47 राइफल, 27 राउंड के साथ मैगजीन, लंगर और सीढ़ी भी जब्त की है।

इंडियन नेवी के मार्कोस कमांडो यूनिट का गठन एंटी पाइरेसी ऑपरेशन, एंटी टेरोरिज्म ऑपरेशन और जंग की परिस्थिति में खास ऑपरेशन चलाने के लिए किया था। फिलहाल नेवी की इस यूनिट को बेहद मजबूत माना जाता है। इसके कमांडो बेहद प्रशिक्षित और हर हालात से निपटने में सक्षम होते हैं।

 

Comments

Most Popular

To Top