Forces

‘आईएन एलसीयू एल- 52’ भारतीय नौसेना में शामिल

आईएन एलसीयू एल- 52

पोर्ट ब्लेयर। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लेफ्टिनेंट गवर्नर डॉ. जगदीश मुखी ने पोर्ट ब्लेयर में भारतीय नौसेना में ‘आईएन एलसीयू एल- 52’ को शामिल किया। भारतीय नौसेना में शामिल होने वाली ‘आईएन एलएसयू एल- 52’ दूसरी लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी (एलसीयू) एमके- 4 के श्रेणी की है। इस जहाज को गार्डन रीच शिप बिल्डोर्स एंड इंजीनियर्स, कोलकाता द्वारा स्वदेशी डिजाइन से निर्मित किया गया है। एल- 52 को नौसेना में शामिल किया जाना देश की स्वदेशी डिजाइन और जहाज निर्माण क्षमता को दर्शाता है।





एलसीयू एमके- 4 जहाज एक ऐसा जहाज है, जो मुख्य लड़ाकू टैंकों, बख़्तरबंद वाहनों, सैनिकों और उपकरणों को जहाज से किनारे तक लाने में प्राथमिक भूमिका निभाता है। इन जहाजों को अंडमान और निकोबार कमान में रखा जाएगा और इन्हें समुद्र तट पर संचालन, तलाशी व बचाव, आपदा राहत संचालन, आपूर्ति और पुनः पूर्ति एवं निकासी जैसे कामों को पूरा करने के लिए तैनात किया जा सकता है।

कमांडर कौशिक चटर्जी की कमान वाले इस जहाज में पांच अधिकारी और 46 नाविक होंगे। इसके अलावा 160 सैनिक भी होंगे। यह जहाज युद्धक टैंकों अर्जुन, टी- 72 और अन्य वाहनों जैसे विभिन्न प्रकार के युद्ध उपकरणों के परिवहन में सक्षम हैं। यह जहाज अत्याधुनिक उपकरणों और एकीकृत ब्रिज सिस्टम (आईबीएस) एवं समेकित प्लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्टम (आईपीएमएस) जैसे उन्नीत सिस्टम से सुसज्जित है।

इसी श्रेणी के बाकी 6 जहाजों का निर्माण जीआरएसई, कोलकाता में अंतिम चरणों में है। इन्हें अगले दो वर्षों में नौसेना में शामिल किया जाना है। इनके शामिल किए जाने से देश की समुद्री सुरक्षा की जरूरतें पूरी करने में मदद मिलेगी और यह प्रधानमंत्री के ‘मेक इन इंडिया’ अभियान के अनुरूप भी है।

Comments

Most Popular

To Top