Forces

नौसेना, एनडीआरएफ और कोल इंडिया जुटी है कोयला खदान में फंसे 15 मजदूरों को बचाने में

कोल माइन

लुम्थारी(मेघालय)।  भारतीय नौसेना और एनडीआरएफ के कर्मियों का एक दल 370 फीट गहरी कोयला खदान में फंसे 15 मजदूरों को बचाने के लिए अभियान शुरू किया है। लेकिन अभी तक कोई सार्थक परिणान नहीं निकल पाया है। आज गोताखोर तलहटी तक पहुंचने का प्रयास करेंगे।





सूत्रों के मुताबिक नौसेना के टीम का नेतृत्व कर रहे लेफ्टिनेंट कमांडर संतोष खेटवाल खदान के वर्टिकल शाफ्ट तक गए। गोताखोरों को उतरने से पहले उन्होंने स्थिति का आकलन किया और उसके बाद संयुक्त अभियान शुरू हुआ। जिले के एक अधिकारी ने बताया कि विभिन्न एजेंसियों के करीब 200 बचावकर्ता घटना स्थल पर तैनात हैं। ओडिशा दमकल सेवा का एक दल अपने साथ 10 उच्च क्षमता वाले पंप लेकर आया है। कम से कम दो पंपों को खदान के भीतर पानी के स्तर तक ले जाना होगा।

NDRF

ओडिशा के मुख्य दमकल अधिकारी एस शेट्टी ने कहा कि हमारी केवल यही चिंता है कि अगर हम अब पंप लगाते हैं तो कार्बन खींचने से घुटन हो सकती है। नौसेना अधिकारियों के मुताबिक सतह से खदान की तलहटी तक 150 फीट से ज्यादा पानी है।

गौरतलब है कि खनिक 13 दिसंबर को पूर्वी जयंतिया हिल्स के लुम्थारी गांव के समीप पहाड़ी पर स्थित खदान में पास बहने वाली ल्यतेइन नदी का पानी भर जाने के बाद से ही अंदर फंसे हैं। अब एनडीआरएफ, नौसेना और कोल इंडिया की मदद से बचाव अभियान चलाया जा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top