Forces

नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा फ्रांस के दौरे पर

सुनील लांबा

नई दिल्ली। स्टाफ समिति प्रमुख और नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा 5 से 10 नवंबर तक फ्रांस के द्विपक्षीय दौरे पर रहेंगे। उनके इस दौरे का उद्देश्य भारत और फ्रांस के सशस्त्र बलों के बीच सहयोग को सुदृढ़ करना और रक्षा सहयोग के नए अवसरों की खोज करना है।





नौसेना प्रमुख लांबा अपने दौरे के दौरान फ्रांस की रक्षा मंत्री सुश्री फ्लोरेंस पार्ली और फ्रांस की सेनाओं के अधिकारियों के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। महत्तवपूर्ण द्विपक्षीय वार्ता के अलावा वह लैन्डीविस्यो में फ्रेंच एयरबेस का दौरा भी करेंगे जहां उन्हें फ्रांसीसी वायु सेना द्वारा राफेल हवाई जहाज के परिचालन की जानकारी दी जाएगी। भारत और फ्रांस के करीबी और दोस्ताना सम्बन्ध हैं। दोनों ने वर्ष 1998 में सामरिक साझेदारी की है जिससे रक्षा, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष जैसे सामरिक क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग में महत्तवपूर्ण बढ़ोतरी हुई है। दोनों देशों के बीच रक्षा संबंध, आपसी विश्वास और आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी हुई है। भारत, फ्रांस से रक्षा प्रौद्योगिकी का आयात करता रहा है। इसमें हाल ही में भारतीय वायु सेना के लिए राफेल लड़ाकु विमान और भारतीय नौसेना के लिए स्कोर्पीन पनडुब्बियाँ शामिल हैं।

भारतीय नौसेना विभिन्न विषयों पर फ्रांस नौसेना के साथ सहयोग करती है जिसमे संचालन गतिविधियाँ जैसे वरूण श्रृंखला का द्विपक्षीय अभ्यास, प्रशिक्षण अदला-बदली, जहाजरानी की सूचनाओं और कर्मियों की वार्ता के द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में विषय सम्बन्धित विशेषज्ञों की अदला-बदली शामिल है। भारतीय नौसेना के युद्धपोत नियमित रूप से फ्रांस के बन्दरगाहों का दौरा करते हैं। भारतीय सेना और वायु सेना ने भी फ्रांसीसी सेना और वायु सेना के साथ सहयोग को निभाया है। भारतीय सेना ने फ्रांस सेना के साथ द्विवर्षीय शक्ति अभ्यास को संचालित किया है जबकि भारतीय वायु सेना हर वर्ष गरूड़ श्रृंखला का अभ्यास संचालित करती है।

Comments

Most Popular

To Top