Army

मुठभेड़ में जैश चीफ मसूद अजहर के भतीजे का मारा जाना सैन्यकर्मियों के लिए बड़ी कामयाबी

सेना के जवान

श्रीनगर। कश्मीर समस्या के मुद्दे पर शुरू हुई बातचीत के बीच सोमवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए, जबकि एक सुरक्षाकर्मी शहीद और दो अन्य जवान जख्मी हो गए। मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर मौलाना मसूद अजहर का भतीजा ताल्हा राशिद भी मारा गया। वह आतंकी हमले करने के साथ-साथ युवाओं को टेरर गतिविधियों से जोड़ने के काम में संलिप्त था। जैश के प्रवक्ता ने ताल्हा राशिद के मारे जाने की पुष्टि की है। सुरक्षाबलों ने ताल्हा राशिद के मारे जाने को बड़ी कामयाबी बताया।





मसूद अजहर का भतीजा ताल्हा रशीद आउटफिट डिविजनल कमांडर था। जैश-ए-मोहम्मद का चीफ मसूद अजहर जो पठानकोट आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है इस वक्त पाकिस्तान के शरण में है। भारत लगातार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करवाने का प्रयास कर रहा है पर चीन इसमें अपनी वीटो पावर के दम पर अड़ंगा लगा रहा है। पाकिस्तान में जैश पर पाबंदी के बाद भी संगठन वहां खुलेआम काम कर रहा है। मसूद का भतीजा रशीद भारत में आतंकी गतिविधियों को तेज करने के मकसद से आया था लेकिन अपने मंसूबों को अंजाम देने से पहले ही सुरक्षाकर्मियों ने उसे एनकाउंटर में मार गिराया। वह बड़े हमले को करने की फिराक में था। सुरक्षाबल जिस तरह से कश्मीर में आतंकियों का सफाया करने के अभियान में लगे हैं, उसके तहत राशिद को भी ढेर कर दिया गया है।

सुरक्षाकर्मियों ने इस साल अब तक 72 बड़े आतंकियों का कश्मीर कश्मीर से सफाया कर दिया है। इनमें से 10 जैश के हैं। कल देर शाम सैन्यकर्मियों को सूचना मिली कि पुलवामा के एक गांव में जैश-ए-मोहम्मद और हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी छिपे हुए हैं। जिसके बाद इलाके की घेराबंदी करके तलाशी अभियान शुरू किया गया। मारे गए आतंकियों के पास एक अमेरिकी हथियार की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी। यह जानने की कोशिश की जा रही है कि आतंकियों के पास अमेरिकी आर्म्स कहां से आए।

Comments

Most Popular

To Top