Forces

अक्तूबर में होगा भारत-रूस संयुक्त सैनिक युद्धाभ्यास

भारत-रूस का संयुक्त युद्धाभ्यास

नई दिल्ली। अब भारत और रूस के बीच एक बड़ा संयुक्त सैनिक युद्धाभ्यास होने वाला है। यह युद्धाभ्यास 19 से 29 अक्तूबर के बीच रूस में होगा। यह पहला मौका होगा जब दोनों देशों की थलसेना, नौसेना और वायुसेना तीनों एक साथ युद्धाभ्यास में हिस्सा लेंगी। ‘युद्धाभ्यास इंद्र’ का फोकस तीनों सेनाओं के समन्वय पर होगा।





मेजर जनरल रैंक का अधिकारी करेगा नेतृत्व

यह पहला मौका होगा जब इतने बड़े स्तर पर भारत किसी दूसरे देश के साथ तीनों सेनाओं, यानी जल-थल और आकाश में युद्धाभ्यास करने जा रहा है। इस युद्धाभ्यास में थलसेना के 350 सैनिक भाग लेंगे। इनका नेतृत्व मेजर जनरल रैंक का कोई अधिकारी करेगा। नौसेना और वायुसेना के दस्ते भी बड़े होंगे।

रूस में तीन स्थानों पर होगा युद्धाभ्यास

यह युद्धाभ्यास ऐसे मौके पर होने जा रहा है, जब भारत और चीन के रिश्ते खराब हो रहे हैं। दूसरी तरफ पाकिस्तान के साथ सीमा पर लगातार गोलाबारी चल रही है। रूस में यह युद्धाभ्यास तीन स्थानों पर होगा। इनमें एक व्लादीवोस्तक क्षेत्र होगा। भारत और रूस की नौसेनाएं, वायुसेनाएं और थलसेनाएं संयुक्त युद्धाभ्यास पहले भी करती रहीं हैं, पर यह पहला मौका होगा जब तीनों सेनाओं का समन्वित युद्धाभ्यास होगा।

पीएम की रूस यात्रा के दौरान रक्षा सहयोग बढ़ाने का हुआ था फैसला

इस साल जून में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रूस यात्रा के दौरान दोनों देशों ने रक्षा-सहयोग को बढ़ाने का फैसला किया था। इसमें रक्षा-उपकरणों के उत्पादन में सहयोग भी शामिल है।

Comments

Most Popular

To Top