DEFENCE

स्पेशल रिपोर्टः भारत के साथ रक्षा रिश्तों का विस्तार कर रहा है जर्मनी

नई दिल्ली। भारत को जर्मनी का स्वाभाविक साझेदार बताते हुए जर्मनी ने कहा है कि वह भारत के साथ रक्षा सहयोग को और विस्तार दे रहा है। जर्मन सरकार भारतीय वायुसेना को ल़डाकू विमान यूरोफाइटर बेचने में रुचि ले रही है। भारत में यूरोफाइटर बनाने के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में यहां जर्मनी के राजदूत मार्टिन न्ये ने कहा कि भारत और  जर्मनी के बीच रक्षा सम्बन्ध गहराई ले रहे हैं।





गौरतलब है कि जर्मनी भारत को अपने देश में बनी HDW पनडुब्बी को भारतीय नौसेना को सप्लाई और भारत में इसके निर्माण में भी रुचि ले रहा है। यहां मीडिया से बातचीत करते  हुए जर्मनी के राजदूत ने कहा कि भारत तेजी से विकास करती अर्थव्यवस्था है जिसके साथ जर्मनी के व्यापार में दस प्रतिशत से भी अधिक का इजाफा हो रहा है। यह व्यापार पिछले साल बढ़कर 19 अरब यूरो तक पहुंच गया है।

राजदूत ने कहा कि जर्मनी भारत के साथ रिश्तों को विशेष अहमियत देता है इसलिये जर्मनी भारत के साथ आर्थिक और सामरिक रिश्तों को और विस्तार देना चाहता है। इस इरादे से जर्मनी चाहता है कि भारत और यूरोपीय यूनियन के बीच जल्द से जल्द मुक्त व्यापार संधि (एफटीए) सम्पन्न हो जाए। राजदूत ने कहा कि जर्मन चांसलर एंजेला मार्कल भारत और यूरोपीय यूनियन के बीच यह संधि जल्द सम्पन्न करवाने में विशेष रुचि ले रही हैं।

राजदूत ने कहा कि जर्मनी भारत का छठा सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार बन चुका है और इसमें और विस्तार की भारी गुंजाइश है। उन्होंने भारत में जीएसटी लागू करने का स्वागत करते हुए कहा कि  भारत में और संरचनात्मक सुधार की जरूरत है। भारत के साथ अपने आर्थिक सम्बन्धों को गहरा बनाने के लिये ही जर्मनी की 17 सौ से अधिक कम्पनियां व्यापार कर रही हैं।

राजदूत ने कहा कि भारत में समग्रता में निवेश का माहौल बेहतर हो रहा है। भारत के साथ यदि मुक्त व्यापार समझौता हो जाता है तो इससे एक मजबूत राजनीतिक संदेश दुनिया को जाएगा।

 

Comments

Most Popular

To Top