DEFENCE

चीनी ऐप्स से खतरा: सेना को चीन के मोबइल ऐप्स इस्तेमाल न करने की एडवाइजरी

सीमा पर भारतीय सेना

नई दिल्ली। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने सीमा पार से हो रही जासूसी में चीनी ऐप्स का भी हाथ होने की बात कही है। सुरक्षा एजेंसियों ने चीनी ऐप्स को देश के लिए बड़ा खतरा बताया है। इन ऐप्स के माध्यम से चीन भारतीय सेना के अफसरों और जवानों के फोन से डेटा चुरा रहा है। सीमा पर तैनात भारतीय जवानों से कहा गया है कि वह अपने स्मार्टफोन से यूसी ब्राउजर, यूसी न्यूज, वीचैट, ट्रूकॉलर और विबो को हटा दें। अपने फोनों से ऐप्स हटाने के बाद फोन को फॉरमेट कर दें।





ऑफिसरों का कहना है कि अधिकारियों और जवानों को जारी की गई एडवाइजरी से पता चलता है कि विदेशी खुफिया एजेंसियां, विशेष रूप से चीन और पाकिस्तान की मोबाइल ऐप्स से डेटा चुराने का काम कर रहे थे। यह कंपनियां मोबाइल ऐप को ब्रेक करके डेटा चोरी करने कार्य कर रही थी।

चीन और पाकिस्तान की इंटेलिजंस एजेंसियां ऐसे मोबाइल ऐप्स का प्रयोग करके स्मार्टफोन को हैक करती हैं और उनसे डेटा चुरा लेती हैं।

भारतीय सेना साइबर सुरक्षा के मद्देनजर समय-समय पर ऐसे सुझाव जारी करती है, जिससे सुरक्षा बरकार रहे। एक ऑफिसर ने कहा कि सैनिकों से उम्मीद की जाती है कि वे अपने व्यक्तिगत और ऑफिशल मोबाइल्स और कम्प्यूटर्स को सुरक्षित रखें। इस तरह की सलाह और सुझाव समय-समय पर जारी किए जाते रहते हैं।

Comments

Most Popular

To Top