DEFENCE

गालवान में भारतीय जवानों का जान गंवाना बेहद पीड़ादायक, उनके बलिदान को नहीं भूलेंगे हम: रक्षा मंत्री

राजनाथ सिंह
फाइल फोटो

नई दिल्ली। लद्दाख में चीन के सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 सैनिक शहीद हो गए। इस घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। चीन के साथ हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी, वहीं चार गंभीर है। इस पूरे मामले पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया कि जान गंवाने वाले जवानों के प्रति उनकी पूरी संवेदना है।





रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि गालवान में भारतीय जवानों का जाना बेहद विचलित करने वाला और पीड़ादायक है। हमारे जवानों ने कर्तव्य के पथ पर असीम साहस और हिम्मत का प्रदर्शन किया और भारतीय सेना की परम्परा को जीवंत रखते हुए अपनी जानें कुर्बान कर दीं। राष्ट्र उनकी बहादुरी और बलिदान को कभी नहीं भूलेगा।

उन्होंने आगे लिखा- मेरी संवेदनाएं वीरगति को प्राप्त हुए उन सैनिकों के परिवारों के साथ है। इस कठिन समय में समूचा देश कंधे से कंधा मिलाकर उनके साथ खड़ा है। हमें भारत के वीर सपूतों की बहादुरी और उनके अदम्य साहस पर गर्व है।

उल्लेखनीय है कि सोमवार रात गालवान घाटी में भारत और चीन की सेना में हिंसक झड़प हुई थी। इस झड़प में भारत के 20 जवानों की जान चली गई है। अलावा इसके भारत के 04 जवान की स्थिति गंभीर है। सेना ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है। बता दें कि इस हिंसक झड़प में चीनी पक्ष को भी खासा नुकसान हुआ है।

समाचार एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से मंगलवार को बताया कि भारतीय पक्ष द्वारा सुने गए इंटरसेप्ट से पता चला है कि लद्दाख की गालवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में चीनी पक्ष की ओर से कम से कम 43 सैनिक जान गंवा चुके हैं या गंभीर रूप से घायल हुए हैं। सीमा पर चीनी हेलिकॉप्टरों की काफी आवाजाही देखी गई है।

Comments

Most Popular

To Top