DEFENCE

Special Report: अमेरिकी विदेश व रक्षा मंत्री भारत आएंगे

अमेरिकी रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री
फाइल फोटो

नई दिल्ली। अगले महीने के मध्य में अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्री भारत दौरे पर आएंगे। विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रक्षा मंत्री मार्क टी एस्पर का भारत दौरा ऐसे वक्त होगा जब भारत और चीन के बीच सीमांत इलाकों में सैन्य तनातनी अपने चरम पर पहुंच गई है और अमेरिका ने चीन की दादागिरी के खिलाफ आवाज उठाई है।





इस बीच विदेश मंक्षी एस जयशंकर के मास्को दौरे की पुष्टि विदेश मंत्रालय ने की है। विदेश मंत्री जयशंकर शाघाई सहयोग संगठन के विदेश मंत्रियों की बैठक के सिलसिले में दस सितम्बर को वहां पहुंचेंगे। गौरतलब है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शांघाई सहयोग संगठन की बैठक के सिलसिले में तीन सितम्बर को मास्को पहुंच चुके हैं।

अमेरिकी रक्षा व विदेश मंत्री एक साथ इसलिये भारत आ रहे हैं कि दोनों देशों ने सालाना टू प्लस टू वार्ता करने का फैसला किया है और हर साल दोनों देशों के रक्षा व विदेश मंत्री एक दूसरे के यहां दौरे करते हैं। इस साल कोविड-19 महामारी के संकट के बीच अमेरिका के दोनों आला मंत्रियों का भारत आना काफी अहम होगा।

अमेरिका के दोनों आला मंत्रियों के भारत दौरे में ही भारत, अमेरिका, आस्ट्रेलिया और जापान के विदेश मंत्रियों की चर्तुपक्षीय बैठक भी आयोजित की जा रही है। चार देशों का यह गुट चीन विरोधी माना जाता है इसलिये भारत चीन के बीच चल रही सैन्य तनातनी के बीच नई दिल्ली में चर्तुपक्षीय बैठक के आयोजन का फैसला काफी अहम है। इस बैठक का आयोजन यह संकेत देता है कि चारों देश चीन की दादागिरी के खिलाफ लामबंद होने लगे हैं।

यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने भारत अमेरिका बैठक और चर्तुपक्षीय बैठकों की पुष्टि की लेकिन इसकी तिथियों के बारे में कोई जानकारी देने से बचते हुए कहाकि इसके आयोजन की विस्तृत तैयारी की जा रही है।

Comments

Most Popular

To Top