DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: चीन को लेकर आला सुरक्षा बैठक, कई विकल्पों पर चर्चा

राजनाथ सिंह मीटिंग के दौरान
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख के सीमांत इलाकों में घुसपैठ कर भारी सैन्य जमावट करने और पीछे हटने से इनकार करने पर पैदा सैन्य तनातनी और इससे पैदा युद्ध के हालात पर चर्चा करने के इरादे से यहां भारत के आला सुरक्षा कर्णधारों ने गहन चर्चा की है। इस बैठक में चीन से निबटने के कई उपायों और विकल्पों पर चर्चा की गई है।





इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर और प्रधान सेनापति जनरल बिपिन रावत और तीनों सेना प्रमुखों ने भाग लिया है। गौरतलब है कि गत सप्ताह भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की मास्को में बातचीत के पहले दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों की आपसी बैठकों के बाद शांति व स्थिरता के लिये पांच सूत्री सहमति हुई थी लेकिन चीन इस पर भी अमल करने से इनकार कर रहा है। दोनों विदेश मंत्रियों की बैठक में यह सहमति बनी थी कि दोनो देशों की सेनाएं जल्द ही पीछे हटेंगी और इसके लिये दोनों देशों के सैन्य कमांडरों की बैठक करवाने पर सहमति बनी थी।

लेकिन इस फैसले के अनुरुप दोनों सेनाओं के सैन्य अधिकारियों के बीच बैठक तय करने से चीन आनाकानी कर रहा है।

गौरतलब है कि चीन ने पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग झील , गोगरा, हाट स्पिंग औऱ देपसांग इलाके में घुसपैठ की है। चीनी सेना को पीछे जाने के लिये समझाने के इरादे से भारत और चीन के बीच राजनयिक औऱ सैन्य कमांडरों के बीच पांच दौर की बातचीत हो चुकी है। लेकिन चीन इसके बावजुद सीमांत इलाकों में अपनी तैनाती बढाता गया है।

Comments

Most Popular

To Top