DEFENCE

Special Report: भारतीय वायुसेना की सुखोई- 30 को मिलेगी अब नई ताकत

सुखोई- 30
फाइल फोटो

नई दिल्ली। रूस से हासिल सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमानों को भारतीय वायुसेना ने हवा से हवा में मार करने वाली रूसी मिसाइलों से नई ताकत प्रदान करने का फैसला किया है।





यहां मिली जानकारी के मुताबिक ये मिसाइलें हवा से हवा में मार करने वाली विम्पेल आर-27 मिसाइलें होंगी। ऐसी 1,000 मिसाइलों का सौदा करीब 15 सौ करोड़ रुपये का किया गया है। मध्ययम से लम्बी दूरी तक मार करने वाली ये मिसाइलें भारतीय वायुसेना ने आपात खरीद के तहत हासिल की हैं।  इसे लगाकर भारतीय वायुसेना ने गत दो महीनों के भीतर 7,300 करोड़ रुपये के सौदे सम्पन्न किये हैं।  सैनिक और तकनीकी  सहयोग के लिये रूसी संघीय सेवा ने इन मिसाइलों के सौदों की पुष्टि की है।  हालांकि रूसी विभाग ने यह जानकारी नहीं दी है कि ये सौदे किस शस्त्र प्रणाली के लिये किये गए।  इसलिये यह साफ नहीं हुआ है कि इस सौदे में कोई और शस्त्रप्रणाली शामिल  है या नहीं।

गौरतलब है कि सेना मुख्यालय आपात खरीद अधिकार के तहत 300 करोड़ रुपये तक की खरीद कर सकते हैं। ये मिसाइलें  तात्कालिक जरूरत वाली अत्यावश्यक  शस्त्र प्रणालियों की  खरीद के तहत हासिल की गई हैं।  हवा से हवा में मार करने वाली  आर-27 मिसाइलें दिन रात किसी भी मौसम में दुश्मन के विमानों को मार गिरा सकती हैं।  ये मिसाइलें 25 किलोमीटर की दूरी तक  3,500 किलोमीटर/घंटा की गति से दुश्मन के किसी भी लक्ष्य को गिरा सकती हैं।

Comments

Most Popular

To Top