DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण

नई दिल्ली। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने दुश्मन के युद्धक टैंकों का नाश करने वाली  लेजर गाइडेड एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण किया है।





यहां रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि  गुजरात के अहमदनगर में स्थित आर्मर्ड कोर सेंटर एंड स्कूल  और आर्मर्ड कोर सेंटर  में 22 सितम्बर को यह परीक्षण किया गया। यह परीक्षण के के रेंज में अर्जुन टैंक से  किया गया जहां लक्ष्य को तीन किलोमीटर दूर रखा गया था।  यह टैंक नाशक मिसाइल लक्ष्य को लेजर किरणों  से निशाना बनाती है। लेजर किरणों से टैंक पर सटीक निशाना लगाने में मदद मिलती है। इस मिसाइल में एक टैंडेम हीट वारहेड का इस्तेमाल होता है जो एक्सप्लोसिव रिएक्टिव आर्मर द्वारा सुरक्षित टैंक में सुराख कर देता है।

इस मिसाइल को टैंकों के अलावा अन्य प्लैटफार्मों से भी छोडा जा सकता है। फिलहाल इन दिनों इस मिसाइल का परीक्षण अर्जुन टैंक से   किया जा रहा है। इस मिसाइल का विकास पुणे स्थित आर्मानेंट रिसर्च एंड डेवलपमैंट इस्टैबलिशमेंट( ARDE )  द्वारा पुणे स्थित हाई इनर्जी मेटीरियल रिसर्च लेबोरेट्री (HEMRL) और देहारदून स्थित इंस्ट्रूमेंट रिसर्च एंड डेवलपमेंट इस्टैबलिशमेंट ( IRDE) के सहयोग से किया गया है।

 रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा वैज्ञानिकों को इस मिसाइल के सफल परीक्षण के लिये बधाई दी है। DRDO के चैयरमैन एवं सचिव डा. सतीश रेड्डी ने भी अपने वैज्ञानिकों को बघाई दी है।

 

Comments

Most Popular

To Top