DEFENCE

Special Report: स्मार्ट टोरपीडो दुश्मन की पनडुब्बियों का बनेगा काल

DRDO ने तैयार किया स्मार्ट टोरपीडो

नई दिल्ली। रक्षा अनुसंधान एवं शोध संगठन (DRDO) ने एक ऐसे स्मार्ट टोरपीडो का विकास किया है जो दुश्मन की पनडुब्बियों पर सामन्य टोरपीडो से कहीं अधिक मारक दूरी पर जा कर वार कर सकता है।





यह टोरपीडो सुपरसोनिक मिसाइल की मदद से लांच किया जाता है। इसे सुपरसोनिक मिसाइल को असिस्टेड रिलीज ऑफ टारपोडी कहते हैं जिसका सोमवार को ओडिशा के ह्वीलर आइलैंड तट पर सफल परीक्षण किया गया। इस सफल परीक्षण के दौरान मिसाइल के उड़ान पथ और इसकी उंचाई और मारक दूरी तक पूरी नजर रखी गई। इस दौरान युद्धपोतों पर तैनात टेलीमीट्री स्टेशनों ने मिसाइलों पर नजर के दौरान इसे सभी पैमानों पर खरा बताया।

स्मार्ट टोरपीडो के विकास में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन की कई प्रयोगशालाओं ने इसकी तकनीक के विकास में योगदान दिया है। इनमें हैदराबाद स्थित डिफेंस रिसर्च़ डेवलपमेंट लेबोरेट्री, आरसीआई हैदराबाद, एनएसटीएल विशाखापतनम और आगरा स्थित एडीआरडीई शामिल हैं।

इस महत्वपूर्ण उपलब्घि के लिये रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ के वैज्ञानिकों को बधाई दी है। डीआरडीओ के चैयरमैन जी सतीश रेड्डी ने अपने सहयोगी वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कहा कि पऩडुब्बी नाशक युद्ध में स्मार्ट टारपीडो खेल का पासा पलटने वाला हथियार साबित होगा।

Comments

Most Popular

To Top