DEFENCE

Special Report: टोही हेलिकॉप्टरों की सप्लाई करेगा रूस

हेलिकॉप्टर

नई दिल्ली। भारत में बनाए जा रहे स्वदेशी विमानवाहक पोत (आईएसी ) आईएनएस विक्रांत पर तैनाती के लिये भारतीय रक्षा मत्रालय ने के ए- 31 एयरबोर्न अर्ली वार्निंग हेलीकाप्टरों की सप्लाई के लिये रूस को आर्डर दिया है।





यहां सूत्रों ने बताया कि ऐसे दस टोही हेलीकाप्टरों की खरीद का आर्डर करीब 31,00 करोड़ रुपये की लागत से दिया गया है। गौरतलब है कि स्वदेशी विमानवाहक पोत को अगले साल समुद्री परीक्षण के लिये उतारा जाना है।

रूसी समाचार एजेंसी इंटरुफैक्स के मुताबिक सैन्य तकनीकी सहयोग के लिये रसियन फेडरल सर्विस के निदेशक दिमीत्री शुगाएव ने इस आशय की जानकारी दी। निदेशक ने बताया कि इस आशय का आर्डर हाल में मिला है जिसे जल्द पूरा किया जाएगा। केए-31 एक अनोखा पूर्व चेतावनी देना वाला नौसैनिक हेलीकाप्टर है जिसके शरीर के निचले हिस्से में रेडार लगा होता है। इस हेलीकाप्टर का डिजाइन दुश्मन के मिसाइली हमलोंसे युद्धपोतों की रक्षा के लिये किया गया है। यह हेलीकाप्टर निचले स्तर पर उड़ान भर रहे किसी हमलावर लक्ष्य के बारे में पूर्व चेतावनी देता है। इसके रेडार समुद्र सतह पर विचरण कर रहे लक्ष्यों को भी खोज सकता है। के ए -31 पर घूमता हुआ रेडार होता है। इसके डैने मोडें जा सकते हैं।

Comments

Most Popular

To Top