DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: राफेल लड़ाकू विमान 27 जुलाई को पहुचेंगे भारत

लड़ाकू विमान राफेल
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख की सीमा पर चीन के साथ चल रहे सैन्य तनाव के बीच भारत की वायुसैनिक ताकत को भारी बढावा मिलेगा। फ्रांस में बन रहे 36 राफेल लड़ाकू विमानों में से पहले छह विमानों की पहली खेप भारतीय वायुसेना को 27 जुलाई को सौंप दी जाएगी। राफेल विमान आधुनिक युद्ध में खेल का पासा पलटने वाले बताए जाते हैं।





इन राफेल विमानों में तैनात की जाने वाली हवा से हवा और हवा से जमीन पर मार करने वाली मिसाइलों की सप्लाई भी कुछ दिनों के भीतर होगी। यहां मिली रिपोर्टों के मुताबिक विमान पर लगने वाली संहारक मेटियोर और स्काल्प मिसाइलों की सप्लाई फ्रांस की वायुसेना अपने भंडार से निकाल कर देगी। इन मिसाइलों की बदौलत भारतीय वायुसेना चीन की वायुसेना का मुंहतोड जवाब देने में सक्षम होगी। हालांकि भारतीय वायुसेना के मौजूदा सुखोई-30 एमकेआई और मिराज-2000 लड़ाकू विमान भी चीनी वायुसेना पर भारी पड़ेगे।

गौरतलब है कि राफाल विमानें की सप्लाई मई महीने में ही होने वाली थी लेकिन कोरोना महामारी की वजह से इनकी सप्लाई में विलम्ब हुआ।

रिपोर्टों के मुताबिक राफेल विमानों को संयुक्त अरब अमीरात के रास्ते भारत भेजे जाएंगे। संयुक्त अरब अमीरात तक इन्हें पहुंचाने के लिये फ्रांस आसमान में ही किसी विमान में ईंधन भरने वाले विमानों का इस्तेमाल करेगा।

Comments

Most Popular

To Top