DEFENCE

Special Report: एंटी सैटेलाइट मिसाइल पर डाक टिकट जारी

एंटी सैटेलाइट मिसाइल पर डाक टिकट
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत की पहली उपग्रह नाशक मिसाइल एसैट पर डाक विभाग ने इंजीनियर दिवस के मौके पर एक डाक टिकट जारी किया। इस मिसाइल का परीक्षण पिछले साल 27 मार्च को ओडिशा के अब्दुल कलाम अंतरिम परीक्षण स्थल से किया गया था। इस मौके पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और अन्य आला अधिकारी मौजूद थे।





इस मिसाइल का विकास रक्षा शोध एवं विकास संगठन (DRDO) ने किया है। इस मिसाइल का परीक्षण पृथ्वी की निचली कक्षा में किया गया था। इस मिसाइल का परीक्षण हिट टू किल रुप में किया गया था। इस इंटरसेप्टर मिसाइल में तीन चरणों का रॉकेट तथा जिसमें दो ठोस राकेट बूस्टर थे। इस मिशन ने अपने सभी लक्ष्यों को पूरा कर लिया था। इस एंटीसेटेलाइट पर डाक टिकट जारी कर देश का याद दिलाया गया है कि भारत इस तरह की क्षमता रखता है जिस पर देश को गर्व है।

इस मौके पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा कि मिशन शक्ति के तहत DRDOने साहसी प्रयास किया था। उन्होंने कहा कि DRDO की कई उपलब्धियां हैं जिस पर वह गर्व कर सकता है। उन्होंने कहा कि इस क्षमता की बदौलत भारत अंतरिक्ष में अपने संसाधनों की रक्षा कर सकता है। इस मौके पर DRDO के चैयरमैन डॉ. जी सतीश रेड्डी ने कहा कि इस तरह का मिशन पूरा करने के लिये प्रधानमंत्री ने निर्देश दिये थे जिसके लिये वह आभारी हैं। उन्होंने DRDO के सहयोगियों से कहा कि भविष्य में इस तरह के और मिशन पूरा करेंगे।

Comments

Most Popular

To Top