DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: मोदी ने राजदूतों को इन 5 बातों पर ध्यान देने को कहा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
फाइल फोटो

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विदेशों में संकटग्रस्‍त क्षेत्रों में फंसे भारतीयों को निकालने के प्रयासों के लिए मिशन प्रमुखों की सराहना की है। सोमवार शाम को कई देशों में भारत के राजदूतों से वीडियो काफ्रेंस के जरिये कोविड-19 वायरस के मसले पर बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने राजदूतों से खासतौर पर पांच मुद्दों पर ध्यान देने को कहा है।





प्रधानमंत्री ने कहा कि सबसे पहले तो वे स्वयं स्वयं की, अपने दल के सदस्‍यों की और अपने परिवारों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं हिफाजत करें।

दूसरी सलाह यह दी कि अंतरराष्ट्रीय यात्राओं पर लगी रोक के मद्देनजर अपने देशों में फंसे हुए प्रवासी भारतीयों से मिलते-जुलते रहें। इन भारतीयों का मनोबल बनाए रखने का भी आग्रह उन्होंने राजदूतों से किया। विदेशों में रह रहे भारतीयों के निवास से जुड़े मसलों पर ध्यान देने को उन्होंने कहा। प्रधानमंत्री मोदी ने तीसरी बात यह कही कि कोविड-19 के विरूद्ध भारत की लड़ाई के लिए सतर्क रहें और उनके संबंधित देशों में चिकित्सा उपकरणों की खरीद के लिए सर्वोत्‍तम अनुभवों, नई पद्धतियों, वैज्ञानिक आविष्‍कारों और स्रोतों का पता लगाते रहें। उन्होंने मिशन के प्रमुखों को विदेश से चंदा जुटाने के लिए नव-स्थापित पीएम-केयर फंड का प्रचार-प्रसार करने की सलाह भी दी।

प्रधानमंत्री ने चौथा अहम निर्देश दिया कि विशेष रूप से कोविड-19 वैश्विक महामारी के संदर्भ में उभरती हुई अंतरराष्ट्रीय, राजनीतिक और आर्थिक स्थिति पर गहनता से नजर रखें।

प्रधानमंत्री ने 5वी सलाह यह दी कि चूंकि कोरोना संकट अर्थव्यवस्था पर भी प्रभाव डाल रहा है, अत: वे यह सुनिश्चित करें कि विदेशी भागीदारों के साथ अपने समन्वय के माध्यम से आवश्यक आपूर्ति, रसद की आपूर्ति, धन प्रेषण और इसी प्रकार के कार्य प्रभावित न हों। प्रधानमंत्री के सम्बोधन के बाद पेइचिंग, वाशिंगटन , तेहरान, रोम, बर्लिन, काठमांडू, आबू धाबी, काबुल, माले और सियोल के दस मिशन प्रमुखों ने अपने दृष्टिकोण प्रस्‍तुत किए। उन्होंने इस महामारी का मुकाबला करने के लिए भारत द्वारा उठाए गए दृढ़ उपायों की उनकी तैनाती के देशों में हुई सराहना के बारे में भी बताया।

प्रधान मंत्री ने जोर देकर कहा कि विदेश में भारत के मिशन घर से बहुत दूर हैं फिर भी कोविड-19 के विरूद्ध भारत की लड़ाई में वे अपना पूरा सहयोग दे रहे हैं। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि सभी भारतीयों की एकता और सतर्कता राष्ट्र के भविष्य को सुरक्षित रखने में मदद करेगी।

Comments

Most Popular

To Top