DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: लद्दाख विवाद का इलाका नहीं- भारत ने चीन से जताया विरोध

चीनी सैनिक
फाइल फोटो

नई दिल्ली। लद्दाख के इलाके को विवादास्पद बताने और वहां चीनी सीमा के बारे में चीन द्वारा एकपक्षीय तौर पर 1959 में किये गए दावे को भारत ने खारिज कर दिया है। गौरतलब है कि चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि साल 1959 में वास्तविक नियंत्रण रेखा के बारे में चीन द्वारा रखे गए प्रस्ताव को ही वह मान्यता देता है।





चीन के दावे पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि 1993 के बाद से हुए सभी आपसी समझौतों में चीन ने यह माना है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर साझा सहमति विकसित करनी होगी। इसलिये चीन द्वारा अब यह कहना कि केवल एक वास्तविक नियंत्रण रेखा है वह अब तक की आपसी सहमतियों के विपरीत है।

प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय पक्ष ने हमेशा ही मौजूदा वास्तविक नियंत्रण रेखा को सम्मान किया है। प्रवक्ता ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के संसद में दिये बयान के हवाले से कहा कि चीनी सेना ने ही बार बार वास्तविक नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है और यथास्थिति को बदलने की कोशिश की है।प्रवक्ता ने कहा कि भारत गम्भीरता से यह उम्मीद करता है कि चीनी पक्ष भारत के साथ अब तक हुए सभी समझौतों की भावनाओं के अनुरुप बर्ताव करेगा।

Comments

Most Popular

To Top