DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: भारतीय सेना को मिलेंगे स्वदेशी लड़ाकू वाहन

इनफैन्ट्री कम्बैट वेहीकल (ICV)
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। भारत सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ नीति को बढ़ावा देने वाला एक बड़ा फैसला लेते हुए रक्षा मंत्रालय के खरीद विभाग ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मंजूरी के बाद आयुध कारखाना बोर्ड (OFB) को 156 बीएमपी की सप्लाई करने का आर्डर दिया है। बीएमपी एक लड़ाकू वाहन होता है।





इस इनफैन्ट्री कम्बैट वेहीकल (ICV) का इस्तेमाल थलसेना की मैकेनाइज्ड फोर्सेज करेगी। इसका उत्पादन आय़ुध कारखाना बोर्ड की तेलंगाना स्थित मेडक इकाई करेगी। इसमें लगे 285 हार्स पावर के इंजन की वजह से यह वाहन रणक्षेत्र में काफी तेजी से दौड़ सकेगा। यह लड़ाकू वाहन 65 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से दौड़ने की क्षमता रखता है। यह वाहन उबड़-खाबड़ मैदानी इलाकों में काफी फुर्ती से दौड़ सकता है। यह वाहन पानी पर भी 07 किलोमीटर की गति से आगे बढ़ सकता है। यह वाहन ढलान या चढ़ाई वाले मैदानी इलाकों में भी चल सकता है।

यहां रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ये वाहन साल 2023 तक थलसेना में शामिल हो जाएंगे। इन वाहनों के शामिल होने से थलसेना की मैकेनाइज्ड इनफैन्ट्री बटालियन की युद्धक क्षमता में भारी बढोतरी करेगा।

Comments

Most Popular

To Top