DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: चीन से मुकाबले के लिए भारतीय वायुसेना पूरी तरह तैयार

भारतीय वायुसेना
फाइल फोटो

नई दिल्ली। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया ने कहा है कि चीन से मुकाबले के लिये हम पूरी तरह तैयार हैं। यहां वायुसेना दिवस के मौके पर सालाना प्रेस कांफ्रेंस में वायुसेना प्रमुख ने कहा कि किसी तरह की झड़प या युद्ध की स्थिति में कोई सवाल ही नहीं उठता है कि चीन हम पर भारी पड़ेगा।





वायुसेना प्रमुख से पूछा गया था कि लद्दाख के इलाके में चीन की चुनौतियों से मुकाबले के लिये भारत कितना तैयार है। यह पूछे जाने पर कि क्या चीन की ताकत के बारे में भारत का आकलन सही है वायुसेना प्रमुख ने कहा कि प्रतिद्वंद्वी देश को हम कम कर नहीं आंक सकते क्योंकि उसने सैनिक तकनीक में भारी निवेश किया है। एयर चीफ मार्शल ने कहा कि चीन की ताकत सतह से हवा में मार करने वाली प्रणालियों में है लेकिन हमने अपनी रणनीति में इनका ध्यान रखा है। हम उन खतरों से निपटने में सक्षम हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या लद्दाख में चीनी घुसपैठ से भारत हैरान रह गया था एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने कहा कि हमने काफी फुर्ती से कदम उठाया। यह कहना गलत होगा हम अचम्भा में पड गए थे। उन्होंने कहा कि हम यह उम्मीद करते हैं कि दोनों देशों के बीच सैन्य कमांडरों की वार्ता उम्मीदों के अनुरुप आगे बढेगी। फिलहाल चीन की कोशिश हैकि वह सर्दियों तक वहां टिका रहे।

यह पूछे जाने पर कि क्या चीन पाकिस्तान के वायुसैनिक अड्डों का इस्तेमाल करेगा वायुसेना प्रमुख ने कहा कि इसका मतलब होगा कि दोनों की सांठगांठ होगी लेकिन वायुसेना इनसे मुकाबला करने के लिये पूरी तरह तैयार है। राफेल लडाकू विमान के बारे में वायुसेना प्रमुख ने कहा कि इससे वायुसेना को तकनीकी बढत मिली है। यह दुश्मन के इलाके में पहले और काफी भीतर जाकर वार करने की क्षमता रखता है।

राफेल की डिलीवरी के कार्यक्रम के बारे में उन्होंने कहा कि नवम्बर के शुरु में पांच विमान और मिलेंगे। इसके दोनों स्क्वाड्रन ( 36 विमान ) को 2023 के अंत तक खडा किया जा सकेगा। अमेरिका के जनरल एटोमिक्स से हथियारों वाले ड्रोन की सप्लाई के बारे में उन्होंने कहा कि हमलावर ड्रोन सफल होते हैं लेकिन कुछ दुश्मन की कार्रवाई में गिर भी सकते हैं। हमने सशस्त्र ड्रोन के सही मिश्रण का खाका तैयार किया है। उन्होंने कहा कि कोई युद्ध केवल सशस्त्र ड्रोन से ही नहीं जीता जा सकता है। हम सभी पहलुओं को ध्यान में रख कर कोई फैसला करेंगे।

Comments

Most Popular

To Top