DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: गणतंत्र दिवस पर भारत दिखाएगा उपग्रह नाशक मिसाइल

उपग्रह
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। इस साल गणतंत्र दिवस परेड के मौके पर भारत पहली बार उपग्रह नाशक मिसाइल का प्रदर्शन करेगा। दुनिया में सनसनी फैलानी वाली भारत की इस पहली उपग्रह नाशक मिसाइल प्रणाली का परीक्षण पिछले साल 19 मार्च को किया गया था।





इस मिसाइल प्रणाली का परीक्षण रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठऩ (डीआऱडीओ) द्वारा भारत की तकनीकी क्षमता दिखाने के लिये  किया गया था। मिशऩ शक्ति नाम की इस उपग्रह नाशक मिसाइल प्रणाली का कामयाब परीक्षण कर भारत ने दुनिया को यह संकेत दिया था कि  भारत के खिलाफ किसी युद्ध के दौरान अंतरिक्ष में तैनात भारतीय उपग्रहों को नुकसान पहुंचाने की जुर्रत नहीं करे।

भारत इस तरह की एंटी सैटेलाइट टेकनालाजी का परीक्षण करने वाला  अमेरिका, रूस औऱ चीन के बाद चौथा देश  था। मई, 1974 में पहला परमाणु परीक्षण औऱ मई , 1998 में दूसरी बार परमाणु  परीक्षण करने के बाद जैसी सनसनी सामरिक हलकों में फैली थी कुछ उसी तरह का विवाद इस एंटी सेटेलाइट टेकनालाजी के जरिये पैदा हुआ था।

गणतंत्र दिवस परेड के दौरान रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठऩ (डीआरडीओ) की प्रदर्शित झांकियों में परेड का यह सबसे बड़ा आकर्षण होगा।

गौरतलब है कि परेड के दौरान  ब्राजील के राष्ट्रपति  मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद होंगे। गणतंत्र दिवस परेड की गुरवार को सम्पन्न रिहर्सल के बाद थलसेना के दिल्ली  एऱिया के चीफ आफ स्टाफ मेजर जनरल आलोक कक्कड़ ने  परेड में शामिल थलसेना की झांकियों की  जानकारी देते हुए बताया कि परेड में भारत में विकसित सतह से आसमान में मार करने वाली आकाश मिसाइल प्रणाली भी  प्रदर्शित की जाएगी। इस मिसाइल का विकास डीआरडीओ द्वारा किया गया है औऱ अब इसे भारतीय सेनाओं में शामिल किया जा चुका है। इसके अलावा देश में ही विकसित होवित्जर तोप धनुष औऱ कोरियाई सहयोग से बनी के-9 वज्र तोपों का भी प्रदर्शन किया जाएगा।

परेड में थलसैनिक टुकड़ियों की अगुवाई पहली बार एक महिला थलसैनिक अधिकारी थलसेना के सिगन्लस रेजीमेंट की कैप्टन तान्या शेरगिल करेंगी। परेड में पहली बार केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बल की एक मोटर साइकिल डिस्प्ले टीम  में सभी महिला साइकल सवार होंगी जो अपने रोमांचक करतब सलामी मंच के सामने पेश करेंगी।

परेड में नौसैना के युद्धपोतों की झांकी भी होगी जब कि वायुसेना अमेरिका से हासिल अपाचे औऱ चिनूक हेलीकाप्टरों को पेश करेगी। परेड का समापन वायुसेना के सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान भी लोमहर्षक उड़ानें भरेंगे।

Comments

Most Popular

To Top