DEFENCE

Special Report: लड़ाकू ड्रोन अमेरिका से खरीदेंगे भारत

सी-गार्डियन ड्रोन

नई दिल्ली। अमेरिका से  हथियारों से लैस होने वाला प्रिडेटर ड्रोन खऱीदने का फैसला भारत ने किया है। तीन सौ किलोमीटर प्रति घंटे की गति से उडने वाला यह लडाकू ड्रोन अपने लक्ष्य को खोजकर उसे ध्वस्त करने की क्षमता रखता है। बिना पायलट के उड़ने वाले इस ड्रोन में  हेलफायर पोजीशन गाइडेड मुनीटन तैनात होंगे।





 चीन के साथ चल रहे मौजुदा सैन्य तनाव के मद्देनजर अमेरिका से यह सौदा काफी अहम साबित होगा। इस लडाकू   ड्रोन को युद्ध का पासा पलटने वाला बताया जा रहा है। पहाड़ी इलाकों में इस ड्रोन की विशेष भूमिका होगी। करीब 20 लड़ाकू ड्रोन खरीदने के लिये अमेरिका से यह सौदा 03 अरब डालर का होगा।

 गौरतलब है कि भारत को अमेरिका से अबतक टोही ड्रोन मिलते रहे हैंजो दुश्मन के इलाके पर नजदीक निगाह रखने में सक्षम होगा लेकिन अब भारत को लडाकू ड्रोन मुहैया कराने का अमेरिका ने अहम फैसला किया है।

गौरतलब है कि हाल में भारत ने अमेरिका से अपाचे लडाकू हेलीकाप्टर आयात किये हैं जिन्हें इन दिनों लद्दाख की पहाडियों  पर तैनात किया जा चुका है। अमेरिका से भारत ने चिनूक हेलीकाप्टर भी खरीदे हैं जिनका इस्तेमाल भी चीन से लगे इलाकों में  भारी सैनिक साज सामान के परिवहन के लिये किया जा रहा है।

 इसके अलावा थलसेना ने भी अमेरिका से आयातित हलकी होवित्जर तोपों का आयात किया है। इन तोपों को भी चीन से लगे सीमांत इलाकों में तैनात किया जा चुका है।

Comments

Most Popular

To Top