DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: भारत ने चीन को फिर चेताया- अंदरूनी मामलों में न दे दखल

प्रवक्ता रवीश कुमार

नई दिल्ली। भारत ने चीन को फिर चेताया है कि भारत के अंदरूनी मामलों में दखलंदाजी नहीं करे। पाकिस्तान के राष्ट्रपति के हाल के चीन दौरे के बाद दोनों देशों द्वारा जारी साझा बयान में भारत के जम्मू कश्मीर इलाके को लेकर की गई टिप्पणी के मद्देनजर भारतीय विदेश मंत्रालय ने मंगलवार देर रात बयान जारी कर चीन को उक्त आशय की चेतावनी दी है।





यह चेतावनी देते हुए यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि चीन और पाकिस्तान के राष्ट्रपतियों के बीच मुलाकात के बाद जारी साझा बयान को भारत नामंजूर करता है। भारत ने कहा कि केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर भारत का अंतरंग हिस्सा है और इस इलाके के मसले भारत के अंदरूनी मामले हैं। प्रवक्ता ने कहा कि चीन सहित अन्य देशों से हम यह अपेक्षा करते हैं कि भारत के अंदरूनी मामलों पर टिप्पणी नहीं करे। जिस तरह भारत दूसरे देशों के अंदरुनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं करता है उसी तरह चीन और बाकी देश भी भारत की सम्प्रभुता और प्रादेशिक एकता का आदर करें।

दूसरी ओर भारत अपने प्रांतीय इलाके में चीन और पाकिस्तान द्वारा चलाई जा रही चीन पाक आर्थिक गलियारा से जुड़ी गैर कानूनी परियोजनाओं को लेकर चिंतित है क्योंकि ये उस इलाके में है जिस पाकिस्तान ने गैरकानूनी तौर पर 1947 से कब्जा किया हुआ है। पाकिस्तान अधिकृत जम्मू कश्मीर के वैधानिक दर्जे को बदलने की किसी भी कोशिश का भारत तीब्र विरोध करता है। प्रवक्ता ने कहा कि हम सभी सम्बद्ध पक्षों से यह आह्वान करते हैं कि इस तरह की गैरकानूनी कार्रवाई नहीं करे जिसे भारत कभी भी स्वीकार नहीं करेगा।

Comments

Most Popular

To Top