DEFENCE

Special Report: भारत-म्यांमार ने किया रक्षा सहयोग पर समझौता

जनरल मिन ओंग हलेंग

नई दिल्ली। भारत और म्यांमार ने आपसी रक्षा सहयोग के लिये सहमति के एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। म्यांमार के सैन्य बलों के कमांडर-इन-चीफ (सीडीएस)  सीनियर जनरल  मिन ओंग हलेंग की यहां रक्षा राज्य मंत्री श्रीपाद नायक के साथ शिष्टमंडल स्तर की बातचीत के बाद सहयोग के इस समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।





दक्षिण पूर्व एशिया के देशों के साथ सामरिक और आर्थिक रिश्तों को गहरा बनाने के इऱादे से म्यांमार भारत की एक्ट ईस्ट नीति में म्यांमार एक मुख्य स्तम्भ है। गौरतलब है कि हाल के सालों में भारत ने म्यांमार के साथ रक्षा सहयोग के रिश्ते गहरे किये हैं।

जनरल मिन ओंग हलेंग और धनोआ

यहां रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि  इस बातचीत में रक्षा सहयोग को गहरा करने, साझा युद्धाभ्यासों की समीक्षा और म्यांमार के सैन्य बलों को दी जा रही ट्रेनिंग की समीक्षा की गई। बातचीत के  समापन के बाद भारत और म्यांमार ने रक्षा सहयोग के समझौते पर हस्ताक्षर किये।

इसके पहले म्यांमार के सैन्य नेता ने अपने आला अधिकारियों के साथ भारत की तीनों सेनाओं के प्रमुखों की समिति के प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ से मुलाकात की। म्यांमार के सीनियर जनरल थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंहे से भी मिले।

आला अधिकारियों से मिलने के पहले म्यांमार के जनरल ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये औऱ रक्षा मंत्रालय के मुख्यालय में उन्हें तीनों सेनाओं की सलामी गारद पेश की गई।

Comments

Most Popular

To Top