DEFENCE

Special Report: सीमा पर तनातनी के मद्देनजर भारत और चीन के राजनयिक फिर मिले

भारत-चीन का झंडा
फाइल फोटो

नई दिल्ली। गत 21 सितम्बर को भारत और चीन के सैन्य कमांडरों की चीन के मोलदो इलाके में हुई 13 घंटे की बैठक के बाद भारत और चीन के आला राजनयिकों ने वीडियो के जरिये बुधवार को फिर बैठक की। यह बैठक भारत और चीन के बीच सीमा मसलों पर गठित तालमेल व समन्वय के लिये वर्किंग मैकेनिज्म (WMCC) के तहत हुई।





यहां आधिकारिक तौर पर इस बैठक के नतीजों के बारे में देर शाम तक कोई बयान नहीं जारी किया गया था। लेकिन समझा जाता है कि इस बैठक में 21 सितम्बर को हुई सैन्य कमांडर बैठक के नतीजों को लागू करने पर चर्चा हुई। इस बैठक में गत दस सितम्बर को मास्को में भारत और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच हुई बैठक में विकसित पांच सहमति को भी लागू करने के बारे में चर्चा की गई। गौरतलब है कि पिछली बार WMCC की बैठक 20 अगस्त को हुई थी। इस मैकेनिज्म की यह 19वीं बैठक थी। मई के बाद से दोनों देशों के राजनयिकों ने छठी बार वर्चुअल बैठक की है।

WMCC की बैठक की अध्यक्षता भारत की ओर से विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव नवीन श्रीवास्तव और चीनन की ओर से सीमा और समुद्री मामलों के प्रभारी हुंग ल्यांग ने की।

इस बैठक में भारत की ओर से फिर कहा गया है कि चीन पांच मई की वास्तविक तैनाती की स्थिति के अनुकुल अपने सैनिकों को पीछे ले जाए। चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख के गलवान घीटी. पैंगोंग झील, गोगरा , हाट स्प्रिंग औऱ देपसांग के इलाके में घुसपैठ की है।

Comments

Most Popular

To Top