DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: राफेल को शामिल करने के वक्त फ्रांस की रक्षा मंत्री भी होंगी

राफेल-विमान
फाइल फोटो

नई दिल्ली। फ्रांस में भारतीय वायुसेना के लिये बने राफेल लड़ाकू विमान को भारतीय वायुसेना में औपचारिक तौर पर सेवारत करने के मौके पर फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली भी मौजूद रहेंगी। 10 सितम्बर को अम्बाला वायुसैनिक अड्डे पर वायुसेना में औपचारिक तौर पर शामिल करने के कार्यक्रम के दौरान भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ फ्लोरेंस पार्ली मुख्य अतिथि के तौर पर खासकर आमंत्रित की गई हैं।





यहां वायुसेना के प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राफेल विमान अम्बाला वायुसैनिक अड्डे पर तैनात गोल्डन एरो नाम वाले 17- स्क्वाड्न का हिस्सा बनेगा। गौरतलब है कि फ्रांस में भारतीय वायुसेना के लिये 36 राफेल लडाकू विमानों का निर्माण हो रहा है जिसमें से पहले पांच विमानों की खेप 27 जुलाई को फ्रांस से अम्बाला पहुंचाई गई थी।

इस मौके पर भारत की तीनों सेनाओं के प्रधान सेनापति जनरल बिपिन रावत और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया के अलावा रक्षा सचिव अजय कुमार , रक्षा शोध संगठन के प्रमुख डॉ. जी सतीश रेड्डी और अन्य आला रक्षा व वायुसैनिक अधिकारी मौजूद रहेंगे। वायुसेना ने कहा है कि भारतीय वायुसेना के इतिहास में यह दिन एक अहम मील का पत्थर होगा।

नई दिल्ली पहुंचने पर फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली की अगवानी सलामी गारद के साथ की जाएगी। इस मौके पर फ्रांस के शिष्टमंडल की अगुवाई भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुअल लेनां करेंगे। इस मौके पर फ्रांस के रक्षा उद्योग का एक बडा शिष्टमंडल भी मौजूद रहेगा। इसमें दासो एविएशन के चेयरमैन एरिक ट्रैपियर और एमबीडीए के सी ई ओ एरिक बैरांजर शामिल हैं।

अम्बाला वायुसेनिक अड्डे पर राफेल विमान का औपचारिक तौर पर अनावरण किया जाएगा। इस मौके पर पारम्परिक सर्वधर्म पूजा भी होगी। इस मौके पर राफेल और तेजस विमानों द्वारा हवाई प्रदर्शन भी किया जाएगा। समारोह के बाद भारतीय और फ्रांसीसी रक्षा शिष्टमंडल की दिवपक्षीय बैठक भी होगी।

Comments

Most Popular

To Top