DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: लड़ाकू विमान राफेल को वायुसेना में शामिल करेंगे रक्षा मंत्री

राफेल उड़ाने के लिए तैयार होते राजनाथ सिंह
फाइल फोटो

नई दिल्ली। फ्रांस से गत 29 जुलाई को जो 05 राफेल लड़ाकू विमान भारत लाए गए थे उन्हें अब आगामी 10 सितम्बर को भारतीय वायुसेना में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा औपचारिक तौर पर शामिल किया जाएगा। इस मौके पर फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली को भी मौजूद रहने के लिए निमंत्रण भेजा गया है लेकिन अभी उनके भारत दौरे की पुष्टि नहीं हुई है।





राफेल लड़ाकू विमानों को भारतीय वायुसेना के अम्बाला स्थित वायुसैनिक अड्डे पर स्थित राफेल के स्क्वाड्रन में शामिल करने के पहले इनका गहन उडान परीक्षण भारतीय माहौल में किया गया है। ये विमान अम्बाला स्थित 17 गोल्डन ऐरो स्क्वाड्रन में शामिल किये जाएंगे । गौरतलब है कि फ्रांस से कुल 36 राफेल लड़ाकू विमानों की सप्लाई का 7.8 अरब यूरो ( करीब 59 हजार करोड़ रुपये ) का सौदा 2016 में हुआ था।

सूत्रों के मुताबिक अगले 05 राफेल विमानों की दूसरी खेप अक्टूबर के अंत तक भारत बेजी जाएगी।

जो पांच राफेल विमान भारत पहुंच चुके हैं उन्हें लद्दाख के इलाकों पर उडा कर देखा गया है। इन्हें लद्दाख की ऊंची पहाडियों के अलावा देश के अन्य मैदानी और रेगिस्तानी इलाकों पर भी उडा कर देखा गया है।

रक्षा सूत्रों के मुताबिक राफेल विमान अम्बाला पर ही तैनात रहेंगे जहां से उन्हें लद्दाख के इलाके में समाघात भूमिका में तैनात किया जाएगा।

ये राफेल विमान हर तरह की मिसाइलों से लैस हैं और लडाकू भूमिका में तैनात होने के लिये पूरी तरह से सक्षम हैं।

Comments

Most Popular

To Top