DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: कोरोना की तैयारी की रक्षा मंत्री ने की समीक्षा

राजनाथ सिंह तवांग में
फाइल फोटो

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से पैदा हालात से निपटने के लिये की जा रही तैयारियों पर चर्चा करने के लिये रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा मंत्रालय के आला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस बैठक के दौरान रक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना से पैदा होने वाले हालात से निपटने के लिये सशस्त्र  सेनाओं ने जो तैयारी की है वह सराहनीय है।





रक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना प्रभावित देशों से भारतीय नागरिकों  और विदेशियों को निकालने के लिये सेनाओं ने जो भूमिका निभाई है वह प्रशंसनीय है।  सेनाओं ने इन नागरिकों को अपनी चिकित्सा सुविधाओं में समुचित देखभाल की। उन्होंने सशस्त्र सेनाओं से आग्रह किया कि कोरोना वायरस से पैदा होने वाले हालात को सम्भालने के लिये अपने स्तर पर जरुरी तैयारी जारी रखें।  इस बैठक में अधिकारियों ने रक्षा मंत्री को कोरोना से निबटने के लिये अबतक उठाए गए कदमों की जानकारी दी।  अधिकारियों ने बताया कि भारतीय वायुसेना ने  कोरोना प्रभावित भारतीयों को चीन, जापान औऱ ईरान से बाहर निकालने के लिये  कई उडानें भरीं। अधिकारियों ने बताया कि रक्षा शोध एवं विकास संगठन की प्रयोगशालाओं ने  20 हजार लीटर सैनीटाइजर बना कर विभिन्न   केन्द्रों पर सप्लाई किये गए है।   इसके अलावा दस हजार लीटर सेनीटाइजर दिल्ली पुलिस को दिये गए हैं।  डीआरडीओ ने दस हजार मास्क दिल्ली पुलिस को दिये हैं।  इसके अलावा रक्षा मंत्रालय ने  बाडी सूट और वेंटीलेटर जैसे निजी सुरक्षा उपकरण भी बनाने के आदेश कम्पनियों को  दिये गए हैं। सेनीटाइजर, मास्क औऱ बाडी सूट का उत्पादन बढ़ा दिया है।  इसके अलावा सार्वजनिक क्षेत्र के रक्षा उपक्रम भारत इलेक्ट्रानिक्स ने भी वेंटीलेटरों का उत्पादन शुरु कर दिया है।

सशस्त्र सेनाओं द्वारा 1,462 नागरिकों को अपनी क्वरानटाइन सुविधा में देखभाल की और 389 को  घर जाने दिया।  फिलहाल मनेसर,  हिंडन , जैसलमेर , जोधपुर और मुम्बई में 1,073 लोगों की तीमारदारी की जा रहीहै। इन जगहों पर 950 बेड के साथ अतिरिक्त सुविधा भी स्थापित की जा रही है।

इसके अलावा मालदीव में तैनात सेना की टीम तैनात की गई थी जो  लौट आई है। इसके अलावा नौसेना के दो युद्धपोत मालदीव के निकट किसी भी आपात मदद के लिये तैनात किये गए हैं।

इस समीक्षा बैठक में तीनों सेनाओं के प्रधान सेनापति जनरल वी के सिंह , रक्षा सचिव डा. अजय कुमार , नौसेना प्रमुख एडमरिल करमबीर सिंह, वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया और थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरावणे, डीआरडीओ के प्रमुख जी सतीश रेड्डी औऱ अन्य आला अधिकारी मौजूद थे।

Comments

Most Popular

To Top