DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: तिब्बत में चीन ने ऑक्सीजन पहुंचाने शुरू किए

चीनी सेना
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख के सीमांत इलाकों में घुसपैठ के सात महीने पूरे होने और वहां भारी बर्फबारी शुरू होने के साथ ही चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने अपने जवानों के लिये तिब्बत के पर्वतीय इलाकों में ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू कर दी है।





एक चीनी अधिकारी के मुताबिक ऑक्सीजन के सिलिंडर तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले उन पर्वतीय ठिकानों पर पहुंचाए जा रहे हैं जहां चीनी सैनिकों का भारी जमावड़ा है। गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख के इलाके में चीनी सैनिक पांच हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले पर्वतीय सैन्य शिविरों में रह रहे हैं। चीनी सैनिक मुख्य युद्धक टैंकों, तोपों, मशीनगनों आदि के साथ तैनात हैं। एक अनुमान के अनुसार सीमांत इलाकों में चीन ने अपने 50 हजार से अधिक सैनिक तैनात किये हैं।

चाइना मिलिट्री ऑनलाइन पत्रिका में सुन शिंग वेई और वू त्वो छी की रिपोर्ट के मुताबिक ऑक्सीजन पैदा करने और सप्लाई के लिये चार किस्म के ऑक्सीजन उपकरण भेजे गए हैं जो एक सैनिक के एक घंटे तक ऑक्सीजन लेने के लिये बना है।

चीनी सैनिकों की इस तरह की तैयारी से साफ है कि चीनी सेना पूर्वी लद्दाख के सीमांत इलाकों से पीछे हटने को तैयार नहीं हो रही है और वह भारतीय सेना को बातचीत में उलझा रही है और वहां अपने दीर्घकालीन स्थायी निवास की तैयारी में है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच आठ दौर की बातचीत हो चुकी है जिसका इरादा भारत पर दबाव बना कर भारतीय सेना को अपना इलाका छोड़ देने को मजबूर करना है।

चीनी सैनिकों को चुनौती देने के लिये भारत की ओर से भी 50 हजार से अधिक सैनिक तोपों, टैंकों और मशीनगनों के साथ तैनात ऊंची बर्फीली पर्वतीय चोटियों पर तैनात हो चुके हैं। भारतीय सैनिकों ने चीन से कहा है कि वे वहां से तब तक नहीं हटेंगे जबतक कि चीनी सैनिक भारतीय इलाकों को छोड़ कर पीछे नहीं चले जाएंगे।

Comments

Most Popular

To Top