DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: कैलाश मानसरोवर झील के पास मिसाइलें तैनात कर रहा है चीन

कैलाश मानसरोवर
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सैन्य तनातनी बढाने के साथ ही चीन तिब्बत के इलाके में कैलाश मानसरोवर झील के पास जमीन से हवा में मार करने वाली हवाई सुरक्षा मिसाइलों की तैनाती कर रहा है।





सैन्य सूत्रों ने इन मीडिया रिपोर्टों की पुष्टि की है जिसके मुताबिक यह इलाका भारत-नेपाल औऱ चीन के संगम पर लिपुलेख से करीब सौ किलोमीटर दूर स्थित है। गौरतलब है कि उत्तराखंड में स्थित लिपुलेख से होकर भारत ने कैलाश मानसरोवर जाने के लिये 80 किलोमीटर का एक मार्ग बनाया है जिसे लेकर नेपाल ने एतराज जाहिर किया है।

चीन इस मानसरोवर झील के इलाके में जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइलों की तैनाती क्यों कर रहा है यह साफ नहीं हुआ है लेकिन सैन्य सूत्रों का कहना है कि चीन इस इलाके में भारत के किसी सम्भावित हवाई आक्रमण का मुकाबला करने की तैयारी कर रहा है। इसी तरह तिब्बत के अन्य वायुसैनिक अड्डों की रक्षा के लिये भी चीनी सेना ने जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइलों की तैनाती कर ली है।

सूत्रों के मुताबिक मानसरोवर इलाके में चीनी सेना की ये हरकतें उपग्रह से दिखाई पडी हैं। उपग्रहों से इन इलाकों की तस्वीरें भी ली जा चुकी हैं। इस इलाके में चीन ने नये सम्पर्क मार्ग बना लिये हैं ताकि सैन्य वाहनों की आवाजाही आसान हो सके। रिपोर्टों के मुताबिक चीन ने इस इलाके में करीब नौ सौ सैनिकों की एक बटालियन की शक्ति के बराबर वहां अपने सैनिकों को भी तैनात कर दिया है। इस इलाके में चीनी सेना द्वारा लगाए गए टेंटों से यह साफ पता चलता है । गौरतलब है कि भारत चीन सीमा पर लिपुलेख दर्रा 17 हजार फीट की उंचाई पर स्थित है।

Comments

Most Popular

To Top