DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: डेफ एक्सपो का लाभ उत्तर प्रदेश के साथ-साथ देश की अर्थ-व्यवस्था को भी

डेफ एक्सपो में राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। लखनऊ में 05 से 09 फरवरी तक आयोजित की गई अंतरराष्ट्रीय रक्षा प्रदर्शनी डेफ एक्सपो- 2020 का सबसे बड़ा लाभ उत्तर प्रदेश को मिलने वाला है।





डेफ एक्सपो के समापन के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि डिफेंस एक्सपो उत्तर प्रदेश को रक्षा निर्माण का संभावित हब बनाने में सफल होगा। समापन समारोह के मौके पर मौजूद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि डिफेंस एकस्पो को राज्य में डिफेंस कॉरिडोर के निर्माण के लिए मजबूत आधार बनाने में मदद मिलेगी।

राजनाथ सिंह ने डेफ एक्सपो 2020 को अभूतपूर्व सफल करार दिया जिसमें न केवल बड़ी संख्या में प्रदर्शकों ने हिस्सा लिया बल्कि नई साझेदारियां हुई और 12 लाख से ज्यादा दर्शक इसमें शामिल हुए। राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश असीमित संभावनाओं का प्रदेश है और डिफेंस एक्सपो 2020 ने राज्य को रक्षा क्षेत्र में नई पहचान दिलाने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि 23 समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर से राज्य के डिफेंस कॉरिडोर को नए निवेश हासिल करने में बड़ा प्रोत्साहन हासिल हुआ है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि इस डिफेंस एक्सपो में आयोजित हुए भारत- अफ्रीकी रक्षा मंत्रियों के पहले सम्मेलन में अपनायी गई लखनऊ घोषणा डिफेंस एक्सपो- 2020 की एक अन्य अभूतपूर्व उपलब्धि रही।

रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार ने अपने संबोधन में डिफेंसएक्सपो को उत्कृष्ट निष्पादित कार्य बताते हुए कहा कि इस रक्षा प्रदर्शनी में आयोजित सभी समारोह बेहतर तरीके से संचालित एवं संपन्न हुए। उन्होंने कहा कि इस प्रदर्शनी ने उत्तरप्रदेश डिफेंस कॉरिडोर में निवेशकों की रूचि को जागृत करने का कार्य किया।

डिफेंस एक्सपो अगले पांच वर्षों में प्राप्त होने वाले रक्षा निर्यातों के लिए प्रधानमंत्री द्वारा लक्षित 5 बिलियन अमेरीकी डॉलर के विकास का गवाह बना जो बदले में भारत को 5 ट्रिलियन अमेरीकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के उद्धेश्य को प्राप्त करने में मदद करेगा। यह भारतीय रक्षा उद्योगों को अति आवश्यक हथियार प्रदान करने वाले एक सफल नवोन्मेषक के रूप में, सबसे ज्यादा हथियार आयात करने वाले भारत के टैग को हटाने में मदद करेगा।

डिफेंस एक्सपो ने भारतीय रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (DPSUs) की इकाइयों को अपने तकनीकी नवोन्मेष तथा नए उत्पादों को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने का एक अनूठा अवसर प्रदान किया। नए उत्पादों को और विकसित करने के लिए नई भागीदारी और सहभागिता से सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (DPSUs) को लाभ हुआ।

Comments

Most Popular

To Top